अंधविश्वास के चलते बच्चे को लोहे की गर्म छड़ से दागा गया

मयंक भार्गव

बैतूल, 24 अक्टूबर ;अभी तक;  महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री संजय जैन द्वारा जिले के भीमपुर विकासखंड के ग्राम खैरा में अंधविश्वास के चलते बच्चे को लोहे की गर्म छड़ से दागने के मामले में दी गई जानकारी अनुसार बच्चे को जिला चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया है एवं उसका उपचार किया जा रहा है।

24 अक्टूबर को जिला बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष श्री कपिल वर्मा एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री संजय जैन द्वारा जिला अस्पताल बैतूल में पहुंचकर बालक आयुष के स्वास्थ्य की जानकारी ली गई। इस दौरान बच्चे के साथ उसकी माता श्रीमती रमोती बाई बारस्कर भी मौजूद थी। जिला चिकित्सालय में उपलब्ध चिकित्सकों से भी चर्चा की गई। चिकित्सकों ने बताया कि वर्तमान में बच्चे को कोई फ्रैक्चर नहीं है, दाहिने कंधे के नीचे दागने का निशान और हल्का बुखार है।

श्री जैन ने बताया कि उक्त घटना अंधविश्वास के चलते हुए है। जिसको लेकर बच्चे की माता के बयान भी लिए गए हैं। श्री जैन द्वारा बताया गया कि आंगनबाड़ी केन्द्र भट्टीढाना, ग्राम खैरी भीमपुर विकासखंड की सेक्टर पर्यवेक्षक से ग्राम में जाकर स्थानीय गतिविधियों के साथ अन्य विभागीय कर्मियों की उपस्थिति में वास्तविक वस्तुस्थिति का पंचनामा तैयार करवाया गया है। जिसमें घटना के दौरान बच्चे की माता अर्थात सहायिका आंगनबाड़ी केन्द्र में तथा पिता खेत में होना बताया गया। इस दौरान बच्चे की दादी द्वारा बच्चे को लोहे की गर्म छड़ से दागने (डमा देना) का कार्य किये जाने की जानकारी दी गई है। अध्यक्ष जिला बाल कल्याण समिति की ओर से थाना प्रभारी थाना मोहदा को बच्चे पर शारीरिक एवं मानसिक हिंसा करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई हेतु लेख किया गया है।

बालक की माता आंगनबाड़ी सहायिका श्रीमती रमोती बाई बारस्कर को घटना के संबंध में कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया है।