अदालतों में नियमित सुनवाई पर फैसला सुरक्षित

सिद्धार्थ पांडेय

जबलपुर २४ नवंबर ;अभी तक; मप्र हाईकोर्ट व अधीनस्थ अदालतों में प्रकरणों की नियमित सुनवाई को लेकर दायर जनहित याचिका में मंगलवार को उच्च न्यायालय में सुनवाई पूरी हो गई। एक्टिंग चीफ जस्टिस संजय यादव व जस्टिस विजय कुमार शुक्ला की युगलपीठ ने सुनवाई पश्चात् अपना फैसला सुरक्षित कर लिया है।

जबलपुर निवासी अधिवक्ता धन्य कुमार जैन की तरफ से दायर याचिका में कहा गया था कि कोविड-19 के कारण मार्च 2020 से लॉकडाउन हो गया था, जिसके बाद अब 23 अक्टूबर को केन्द्र सरकार ने सभी कार्यालयों में अधिकारियों व कर्मियों की सौ फीसदी उपस्थिति का आदेश दिया है। इतना ही नहीं हवाई यात्रा से लेकर टे्रन यात्रा भी प्रारंभ हो चुकी है, कार्यालय भी खुल गये है, लेकिन न्यायालयों में नियमित सुनवाई नहीं हो रहीं है, जिससे पक्षकारों व अधिवक्ताओं सहित अन्य को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा रहा है। आवेदक का कहना है कि हाईकोर्ट व अधीनस्थ न्यायालय के करीब 50 हजार अधिवक्ता व उनका स्टाफ सहित न्यायालय परिसर में स्थित व्यवसायी व अन्य कर्मियों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। इतना ही नहीं जेल में निरुद्ध बंदियों के हजारों प्रकरणों में भी सुनवाई नहीं हो पा रहीं है। मामले में मंगलवार को उभयपक्षों के तर्क पूरे होने पर न्यायालय ने अपना फैसला सुरक्षित कर लिया है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *