अधीनस्थ कार्यालयों की लगातार मॉनिटरिंग की जाए, कार्यालयीन व्यवस्थाओं को और अधिक सुदृढ बनाएं – कलेक्टर

6:07 pm or October 5, 2020
अधीनस्थ कार्यालयों की लगातार मॉनिटरिंग की जाए, कार्यालयीन व्यवस्थाओं को और अधिक सुदृढ बनाएं - कलेक्टर

सौरभ तिवारी

होशंगाबाद ५ अक्टूबर ;अभी तक; सभी विभाग प्रमुख अपने अधीनस्थ कार्यालयों एवं स्टाफ की लगातार मॉनिटरिंग करें तथा कार्यालयीन व्यवस्थाओं को और अधिक सुदृढ बनाएं । योजनाओं एवं आमजन से जुड़े प्रकरण किसी भी स्तर पर पेंडिंग न रहें यह सुनिश्चित किया जाए। लापरवाही बरतने वाले अधिकारी, कर्मचारी के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी। यह निर्देश कलेक्टर धनंजय सिंह ने  सोमवार को कलेक्टर सभाकक्ष में आयोजित साप्ताहिक समय सीमा की बैठक में दिए। बैठक में जिला पंचायत सीईओ मनोज सरियाम,अपर कलेक्टर जी पी माली सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

कलेक्टर श्री सिंह ने सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि वे अपने- अपने क्षेत्र  में उचित मूल्य की दुकानों और जिन वेअर हाउस में पी डी एस तथा अन्य कल्याणकारी योजनाओं का अनाज भण्डारित है उनका नियमित निरीक्षण करें तथा खाद्यान्न के गुणवत्ता की जांच की जाए।

सीएम हेल्पलाइन में खराब परफॉर्मेंस वाले अधिकारियों को नोटिस

            कलेक्टर श्री सिंह ने सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों की विस्तार से समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि सभी अधिकारी सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों का तत्परता से संतुष्टिपूर्ण निराकरण कराएं।उन्होंने लोक सेवा प्रबंधक को निर्देशित किया कि वे प्रत्येक गुरुवार को सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों का संबंधित विभागों के साथ समीक्षा कर उनका निराकरण कराएं। उन्होंने सीएम हेल्पलाइन में खराब परफॉर्मेंस वाले अधिकारी, कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

पेयजल गुणवत्ता की नियमित टेस्टिंग हो

            कलेक्टर श्री सिंह ने सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अपने अपने क्षेत्रों में पेयजल व्यवस्थाओं बेहतर तरह से क्रियान्वयन करें, पानी की गुणवत्ता की नियमित जांच की जाए। साफ – सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए।

पेचवर्क का कार्य शीघ्र कराएं

            कलेक्टर श्री सिंह ने सड़क निर्माण से जुड़े विभागों को निर्देशित किया कि वे सड़कों की नियमित निरीक्षण करें तथा सड़कें में गड्ढों की शीघ्र मरम्मत कराएं।

बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने समय सीमा के पत्रों की विस्तार से समीक्षा की एवं संबंधित अधिकारियों को समय सीमा के प्रकरणों का शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिए।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *