अपना घर संभल नहीं रहा, भाजपा से सवाल कर रही है कांग्रेस ; विष्णुदत्त शर्मा

मयंक शर्मा
खंडवा २६ अक्टूबर ;अभी तक;  कांग्रेस पार्टी अपना घर नहीं संभाल पा रही है। उनके नेता ही
कांग्रेस की रीति-नीति पर सवाल उठा रहे हैं। कांग्रेस के एक विधायक मंच
से रोकर कह रहे हैं कि कांग्रेस को क्या हो गया है। पार्टी में कोई सुनने
को तैयार नहीं है। दिग्विजय सिंह के छोटे भाई लक्ष्मण सिंह कह रहे हैं कि
बूथ पर कांग्रेस का कुछ बचा नहीं है। इनका नेतृत्व टॉर्च लेकर राष्ट्रीय
अध्यक्ष को ढूंढ रहा है, लेकिन नहीं मिल रहा है। ऐसी कांग्रेस पार्टी
भाजपा से सवाल कर रही है?
              ये बातें भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष  विष्णुदत्त शर्मा ने कही। वे खंडवा
लोकसभा क्षेत्र के पंधाना में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। श्री शर्मा
ने कहा कि जब दिग्विजय सिंह प्रदेश के मुख्यमंत्री थे, तब कई घपले-घोटाले
मध्यप्रदेश में हुए। दिग्विजय सिंह ने पौधरोपण के नाम से सरकारी जमीन की
बंदरबांट की। कई लोगों को ये जमीन दे दी। दिग्विजयसिंह प्रदेश की जनता को
यह बताएं कि ट्रेजर आईलैंड घोटाले में वे कैसे क्लीनचिट हो गए।
                पन्ना में इनकी पूर्व जिला अध्यक्ष और उनके सिपहसालार पर जुर्माना किया गया है।
श्री शर्मा ने कहा कि अभी तो इनका एक कब्जा निकला है, इनके शासनकाल में
हुए घपलों-घोटालों की भी लोकायुक्त जांच होनी चाहिए।  मंगलवार विष्णुदत्त
शर्मा पंधाना के कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल हुए वहीं पत्रकारों से भी
रूबरू हुए।
0समाप्त हो गया है कांग्रेस का अस्तित्व
प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा है कि कांग्रेस का बंगाल से सफाया हो
गया, असम से सफाया हो गया। इनका देश-प्रदेश की राजनीति में भी अस्तित्व
समाप्त हो गया। इनके पास अब आरोप-प्रत्यारोप करने के अलावा कुछ काम नहीं
बचा है। कांग्रेस बिखर गई है, अप्रसांगिक हो गई है। प्रदेश में कांग्रेस
की लीडरशिप समाप्त हो गई है। एक मिस्टर बंटाढार ने प्रदेश को बर्बाद कर
दिया था तो दूसरे ने प्रदेश की जनता से झूठ बोलकर उनके साथ वादाखिलाफी
की। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि लोकतंत्र में जिसको वोट ज्यादा मिलते हैं
वह जीतता है, लेकिन तकनीकी रूप से कांग्रेस की चार सीटें ज्यादा आ गई थीं
और उनकी सरकार बन गई थी। लेकिन झूठ की यह सरकार ज्यादा दिन नहीं चली।
0 कांग्रेस तुष्टिकरण की राजनीति करती है
प्रदेश अध्यक्र्ष  ने कहा कि कांग्रेस पाकिस्तान परस्त मानसिकता से काम
करती है। कांग्रेस तुष्टिकरण की राजनीति करती है और ऐसी राजनीति से ही
जिंदा रह सकती है। कांग्रेस ने हमेशा से अल्पसंख्यकों को वोट बैंक माना
है, लेकिन उनके लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस देश में
अस्थिरता लाना चाहती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शासन में
अल्पसंख्यकों का विकास हुआ है। मोदी सरकार के कार्यकाल में अल्पसंख्यक
सबसे ज्यादा सुरक्षित हैं। इसीलिए मोदी जी की तरफ अल्पसंख्यकों का रुझान
बढ़ रहा है।
पत्रकारों से चर्चा के दौरान प्रदेशाध्यक्ष श्री शर्मा के साथ कैबिनेट
मंत्री डॉ. मोहन यादव, प्रदेश महामंत्री कविता पाटीदार,  मौजूद रहे।