अफ्रीकन चीतों को लिए अनुकूल है गाँधीसागर वन क्षेत्र

महावीर अग्रवाल

मंदसौर एक अप्रैल ;अभी तक;  सांसद श्री सुधीर गुप्ता ने  कहा की गाँधीसागर वन क्षेत्र देश के बड़े वन क्षेत्रो में शुमार है । यह वन क्षेत्र तकरीबन 368 वर्ग किमी में फैला हुआ है । जिसमे मंदसौर जिले का भाग लगभग 187 वर्ग किमी एवं नीमच जिले में 181 वर्ग किमी में फैला हुआ है ।

वे गांधीसागर वन क्षेत्र की समीक्षा बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि गांधीसागर  वन क्षेत्र में अफ्रीकन चीतों को लाने की योजना को मूर्त रूप इसलिए मिला है की वन क्षेत्र में घास के बड़े मैदान है जो की चीतों के रहेने के लिए अनुकूल है । वर्त्तमान में 500 चीतल लाने की योजना है जिनमे से 58 मादा एवं 6 नर चीतल लाकर वन क्षेत्र में छोड़े जा चुके है । गांधीसागर वन क्षेत्र में वर्तमान में तेंदुआ, लक्कड़बग्गा, चिंकारा, काला हिरन, जंगली सूअर, सियार सहित 16 विभिन्न प्रजातियों के वन्य जीव निवास कर रहे है । इसके अलावा घड़ियाल एंव मगर भी सर्वाधिक तादात में पाए जा रहे है । जिनके संरक्षण की दिशा में सरकार प्रयास कर रही है । सांसद सुधीर गुप्ता ने बताया की भारत सरकार के प्रयासों से देशव्यापी गिद्ध संरक्षण परियोजना में भी हम आगे आये है । 6 सालो के प्रयासों के बाद हमने गिद्धों की संख्या को प्राप्त करने में उल्लेखनीय सफलता अर्जित की है । उन्होंने बताया की अकेले गाँधीसागर वन क्षेत्र में 220 से अधिक पक्षियों की प्रजाति पाई जाती है, इनमे 60 प्रजातियों के पक्षी बढ़ी तादात में पाए गए है । हाल ही में भारत के विभिन्न क्षेत्रो से पक्षी प्रेमी भी आकर्षित हुए है । सांसद गुप्ता ने बताया की 200 तरह की वानस्पतिक प्रजातिया यहां उपलब्ध है ।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *