अली के कैच छोड़ने को ‘टर्निंग प्वाइंट’ बताने के बाद बाबर ने कहा, खिलाड़ी से कैच छूट सकते हैं

दुबई, 12 नवंबर ‘ पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम ने हसन अली के मैथ्यू वेड का कैच छोड़ने को टी20 विश्व कप सेमीफाइनल में आस्ट्रेलिया से मिली हार का ‘टर्निंग प्वाइंट’ (मैच का रूख बदलने वाला क्षण) करार दिया था लेकिन बाद में इसमें संशोधन करते हुए कहा कि खिलाड़ियों का कैच छोड़ना मैच का हिस्सा था और उनकी टीम के बाहर होने का कारण यह नहीं था।

अली 19वें ओवर में शाहीन शाह अफरीदी की गेंद पर वेड का कैच लपकने में असफल रहे थे, जिसके बाद इस आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने लगातार तीन छक्के जड़कर अपनी टीम को पाकिस्तान पर पांच विकेट से जीत दिलाने में मदद की। बाबर ने मैच के बाद कहा कि अगर कैच लपक लिया गया होता तो मैच का नतीजा कुछ और हो सकता था।

लेकिन मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने पहले जो कहा था, उसमें से कुछ का दोहराव किया लेकिन साथ ही कहा कि कैच नहीं लपक पाना खेल का हिस्सा था और टीम अली का पूरा समर्थन करेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘मैच में कैच छूटे और इसके कारण मैच का रूख बदल गया। अगर कैच नहीं छूटता तो परिदृश्य अलग हो सकता था। लेकिन यह खेल का हिस्सा है और हम अपनी गलतियों से जितना जल्दी सीखते हैं, उतना अच्छा होता है। ’’

जब एक पत्रकार ने पूछा कि क्या उन्हें अब महसूस हो गया कि अली की फॉर्म टूर्नामेंट के दौरान अच्छी नहीं थी और उनके कैच छोड़ने से ही पाकिस्तानी टीम टूर्नामेंट से बाहर हो गयी। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे ऐसा नहीं लगता। ’’

आजम ने कहा, ‘‘वह हमारा मुख्य गेंदबाज हैं और उसने पाकिस्तान के लिये काफी मैच जीते हैं। खिलाड़ियों से कभी कभार कैच छूट जाते हैं। ’’

टूर्नामेंट में बल्ले से शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों में शामिल रहे बाबर ने कहा, ‘‘वह (अली) थोड़ा (फॉर्म से) जूझ रहा है और मैं उसका समर्थन जारी रखूंगा। हर खिलाड़ी प्रत्येक मैच में अच्छा नहीं कर सकता। कुछ खिलाड़ी जिनका मैच के दौरान दिन अच्छा रहता है, वे इसका पूरा फायदा उठाकर अच्छा प्रदर्शन करते हैं। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘हां, वह थोड़ा फॉर्म में नहीं है। हम उसका समर्थन करते रहेंगे और उसे भरोसा देते रहेंगे। लोग काफी चीजें कहते हैं लेकिन हम उसके साथ हैं। ’’

अली का कैच छोड़ना टीम के लिये महंगा साबित हुआ, इसके अलावा वह गेंद से भी अच्छा नहीं कर सके और अपने चार ओवरों में उन्होंने 44 रन लुटाये।

लेकिन बाबर ने कहा, ‘‘बतौर खिलाड़ी आपको आत्मिवश्वास की जरूरत होती है, हमने हसन अली का समर्थन किया है। प्रबंधन के अलावा मैंने उसका पूरा समर्थन किया है। एक दिन अच्छा करना या नहीं करना, आपके हाथ में नहीं है, अहम चीज प्रयास करना है और उसने अपना प्रयास किया। दुर्भाग्य से प्रदर्शन नहीं हो सका लेकिन कोई बात नहीं, वह आगे अच्छा करेगा। ’’