अवैध कालोनियों का निर्माण, भू माफिया प्रशासन को दिखा रहे ठेंगा

डॉ रवि शर्मा भिंड से
भिंड ६ अप्रैल ;अभी तक; शहर के अलावा जिले के विभिन्न कस्बाई इलाकों में स्थित कृषि उपजाऊ जमीन पर आवासीय कालोनियां भू माफियाओं द्वारा तैयारी कर आवासीय अवैध कॉलोनी का निर्माण लगातार प्रशासन की नाक के नीचे प्रतिदिन हो रहा है । शहर के गौरी तालाब नेशनल हाईवे 92 ग्वालियर रोड अटेर रोड लहार रोड मार के किनारे दोनों ओर खेतों में न सिर्फ प्लाट काट दिए गए हैं बल्कि भवनों के निर्माण की दिन प्रतिदिन हजारों भवनों के निर्माण खुलेआम प्रशासन की नाक के नीचे प्रशासन की नजर में भू माफियाओं द्वारा लाखों रुपए देकर अवैध कॉलोनी खेतों में प्लॉट काटकर भेजे जा रहे हैं ।
                   र राजस्व विभाग वह बैनामा करने वाले भी इस खेल में लाखों रुपए लेकर भू माफियाओं से जुड़े हुए हैं । शहर में तकरीबन 1 सैकड़ा से ज्यादा हजारों हेक्टेयर कृषि भूमि पर अवैध रूप से खेतों में कॉलोनियां वह प्लॉटिंग बेधड़क की जा रही है प्रशासन की कार्रवाई दिखावटी कार्रवाई एक-दो दिन होती है फिर वह सक्रिय हो जाते हैं ।
                अवैध कॉलोनाइजर 2 माह पूर्व नोटिस थमा ने तथा उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराने की कार्रवाई प्रशासन द्वारा कोरी धमकी देकर शुरू करने की बात कही थी परंतु तीन-चार दिन बाद उक्त बात प्रशासन ने कार्रवाई के न करने अवैध कॉलोनाइजर की समस्या से अपना ध्यान हटा लिया । नतीजा यह निकला की कॉलोनाइज फिर से दोगुनी गति से सक्रिय हो गए । शहर में ही नहीं बल्कि जिले के कुछ क्षेत्रों में तकरीबन एक दर्जन कस्बों में भी कृषि उपजाऊ जमीन पर कॉलोनी में बचाए जाने का काम धड़ल्ले और कॉलोनी याचढ़ा बसाई जाने का काम किया जा रहा है ।
बेखौफ कर रहे हैं अवैध कॉलोनाइजिंग
 बता दें कि अवैध कॉलोनाइजिंग के कारोबार को जिले भर में करीब 15 100 से ज्यादा लोग अंजाम अंजाम दे रहे हैं इसमें से 500 राजनीतिक शख्सियत ओं का संरक्षण प्राप्त है यही वजह है कि उन्हें किसी प्रकार की कानूनी कार्रवाई का भी वह नहीं है नतीजे हजारों एक हेक्टेयर कृषि भूमि का रकबा अवैध कॉलोनाइजिंग की भेंट चढ़ा रहा है ऐसे में शासन को अरबों रुपए का शासन राजेश राजेश शासकीय राजस्व को चूना लगा रहे हैं वह कोई और नहीं राजनेता वह उनके चाहते रिश्तेदार आदि ही मध्य प्रदेश शासन के राजस्व को हानि पहुंचाने में 100% प्रशासन पर दबाव डाल के वह प्रशासन को मिला करके उक्त अवैध कार प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा करवाती हैं

 

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *