अवैध रूप से एक 12 बोर का देशी कट्टा व कारतूस रखने वाले आरोपी जितेंद्र को 02 वर्ष का कठोर कारावास की सजा

6:29 pm or August 6, 2022
महावीर अग्रवाल

मंदसौर ६ अगस्त ;अभी तक;   माननीय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, श्री राहुल सोलंकी साहब द्वारा आरोपी जितेंद्र आत्मज प्रभुलाल लोधा, उम्र-लगभग-35 वर्ष, निवासी – ग्राम भाटरेवास, जिला-मंदसौर को अपराध मे दोषी पाते हुये 02 वर्ष का कठोर कारावास व 1,000/-रुपये के अर्द्धदण्ड से दंडिण्त किया।
अभियोजन मीडिया सहायक शोएब खान द्वारा बताया गया मामला इस प्रकार है कि दिनांक 21.04.2014 को उप निरीक्षक वाय.आर.सेन को दलौदा चैकी पर देहात भ्रमण के दौरान मुखबीर से सूचना मिली कि लखमाखेड़ी फंटा पर एक नई उम्र का लड़का,काली शर्ट पहने जो संदिग्ध होकर, उसके पास अवैध हथियार मिल सकता है। उक्त सूचना से हमराह प्रधान आरक्षक नरेंद्र शर्मा एवं ग्राम लखमाखेड़ी के राहगीर राजेंद्र एवं भारतसिंह को अवगत कराकर अधिग्रहित वाहन क्र. एम.पी.-14 बी.डी.-1399 को लेकर लखमाखेड़ी फंटा पहुंचे, जहां पर एक लड़का काली शर्ट पहने खड़ा था, जिससे नाम पता पूछने पर उसने अपना नाम जितेंद्रसिंह पिता प्रभुलाल लोधा, उम्र-20 वर्ष, निवासी भाटरेवास, थाना अफजलपुर का होना बताया था, जिसकी तलाशी पंचान राजेंद्रसिंह व भारतसिंह के समक्ष हमराही प्रधान आरक्षक नरेंद्र शर्मा की मदद से ली गई। तलाशी लेते उक्त व्यक्ति की पेंट में दाहिंनी तरफ कमर में से एक देशी कट्टा 12 बोर का निकला, मय ट्रेगर चालू हालत में मिला व दाहिंनी जेब से एक कारतूस 12 बोर लाल रंग का मिला, जो जिंदा होना पाया गया। अभियुक्त से देशी कट्टा रखने व लाने ले जाने के संबंध में लाईसंेस के बारे में पूछा गया तो उसने नहीं होना बताया। अभियुक्त का कृत्य आयुध अधिनियम के अंतर्गत दंडनीय होने से विधिवत आरोपी को गिरफ्तार कर देषी कटटा मय कारतुस को जब्त कर जब्ती की कार्यवाही की गई। उप निरीक्षक वाय.आर.सेन द्वारा मौके की कार्यवाही पूर्णकर मय जब्तशुदा देशी कट्टा व कारतूस तथा अभियुक्त को पुलिस चैकी दलौदा लाया गया। आरोपी के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर आवश्यक अनुसंधान कार्यवाही पूर्णकर अभियोग-पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया गया।
विचारण के दौरान उक्त प्ररकरण में न्यायालय के समक्ष अभियोजन द्वारा रखे गये तथ्यो व तर्को से सहमत होकर माननीय न्यायालय द्वारा आरोपी को दोषसिद्ध किया ।
प्रकरण में अभियोजन का सफल संचालन सहायक जिला अभियोजन अधिकारी श्री बलराम सोलंकी द्वारा किया गया।