अव्यस्क बालिका का अपहरण कर दुष्कृत्य करने वाले आरोपीगण को हुआ आजीवन कारावास

8:09 pm or July 30, 2022
विधिक संवाददाता
  इंदौर ३० जुलाई ;अभी तक;  जिला अभियोजन अधिकारी श्री संजीव श्रीवास्तव ने बताया कि दिनांक 26/07/2022 न्यायालय- श्रीमती सुरेखा मिश्रा, तेरहवें अपर सत्र न्यायाधीश एवं विशेष न्यायाधीश (पॉक्सो एक्ट),जिला इंदौर के न्या्यालय में थाना बेटमा के अपराध क्रमांक  425/2014जिला इंदौर में निर्णय पारित करते हुए आरोपी नितिन को 363, 366/109, 376 (2)(आई) भादवि  में अजीवन कारावास एवं आरोपी संदीप एवं विष्णु पटेल को धारा 363, 366/109भादवि में 03-03 वर्ष का सश्रम कारावास एवं कुल जुर्माना 8000 रूपये अर्थदण्डि से दण्डित किया गया । प्रकरण में अभियोजन कि ओर से पैरवी विशेष लोक अभियोजकश्रीमती सुशीला राठौर एवं एडीपीओ श्रीमती पदमा जैन द्वारा की गई।
अभियोजन कहानी संक्षेप में इस प्रकार है कि दिनांक 08/10/2014 को बालिका के चाचा ने पुलिस थाना बेटमा इंदौर में इस आशय कि रिपोर्ट दर्ज करायी कि वह ग्राम दौलताबाद में रहता है । दिनांक 08/10/2014 को रात्रि करीब 1-30 बजे बालिका के मोबाइल पर आरोपी का फोन आया तो वह दरवाजा खोलकर घर के बाहर चली गई तो उसके भैया-भाभी ने सोचा कि बालिका बाथरूम गई है । थोडी देर बाद मोटरसायकल की आवाज आई तो भाई ने देखा कि बालिका को नितिन और संदीप जबरदस्ती  मोटरसायकल पर लेकर चले गए । भाई ने घटना की जानकारी मोबाईल पर मुझे दी फिर हमने बालिका को गांव में व आसपास रिस्ते दारों के यहां डूंढा पर नहीं मिली । उक्त सूचना पर से आरोपीगण के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध किया गया एवं संपूर्ण विवेचना उपरांत अभियोग पत्र न्यायायलय के समक्ष प्रस्तुत किया गया था जिस पर आरोपीगण को उक्त सजा सुनाई ।