असली हीरे दिखाकर नकली बेचने वाला गिरोह धराया, 8 आरोपी गिरफ्तार

मयंक भार्गव

बैतूल ६ जून ;अभी तक;  बेहद सुनियोजित ढंग से असली हीरे दिखाकर नकली हीरे बेचने का कारोबार करने वाले गिरोह ने छिंदवाड़ा के एक सराफा व्यापारी को भी अपने झांसे में लेने का प्रयास किया था लेकिन इस प्रयास में सफल नहीं होने पर गिरोह ने सराफा व्यापारी को लूट लिया था। इसकी शिकायत गंज थाने में करने के बाद पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद के निर्देश पर टीम गठित की गई थी। पुलिस टीम ने छिंदवाड़ा के सराफा व्यापारी की साथ हुई कट्टे की नोक पर ढाई लाख के जेवर और ढाई लाख नगद लूट लिए थे। लूट के साथ-साथ असली हीरे दिखाकर नकली हीरे बेचने वाले 8 आरोपियों को जहां गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। वहीं आरोपियों के कब्जे से 55 लाख रुपए का मसरूका भी जब्त किया है। यह खुलासा पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित पत्रकारवार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद ने किया।

31 मई को हुई थी सराफा व्यापारी से लूट

पुलिस कंट्रोल रूम पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद ने बताया कि 4 दिन पहले हमलापुर क्षेत्र में छिंदवाड़ा के सराफा व्यापारी के साथ लूट की घटना हुई थी। इस घटना के बाद एसआईटी का गठन किया गया था। फरियादी प्रिन्स सोनी पिता गजेन्द्र सोनी (25) साल निवासी छिन्दवाड़ा के साथ 31 मई को लूट की घटना हुई थी , जिसमें ढाई लाख रुपए एवं 5 नग हीरे करीबन दो लाख पचास हजार रुपए के अज्ञात आरोपियों द्वारा हमलापुर के आगे पुलिया के पास आमला रोड पर घटना को अंजाम दिया गया था। इसकी रिपोर्ट फरियादी प्रिन्स सोनी द्वारा थाना गंज में 1 जून को की गई जिस पर अपराध क्रमांक -200/2021 धारा 392 के तहत अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध पंजीबद्ध किया गया।

दो कट्टे, 5 असली हीरे समेत 250 नग नकली हीरे बरामद

आरोपियों के कब्जे से पाँच असली हीरे एवं 250 नग नकली हीरे तथा दो देशी कट्टे दो जिंदा कारतूस एवं 15000 रुपए नगदी जब्त किए है। इस प्रकरण में धारा 395 बढ़ाई गई है। एसपी ने बताया कि आम्र्स एक्ट के आरोपियों द्वारा फरियादी को कम पैसे में हार दिलाने का कहकर उस अपने जाल में फंसाया और फिर उसे असली हीरे देकर विश्वास में लेकर दूसरी बार नकली हीरे देकर कट्टा अड़ाकर हीरे एवं पैसे छुड़ा कर भाग गए। आरोपियों के द्वारा नकली हीरे दवाई वाले कैप्सूलों के अन्दर भरकर परिवहन करते थे ताकि मौके पर पूछताछ होने पर पकड़ाई में न आ सकें। आरोपियों के द्वारा नकली हीरों को असली बताकर प्रत्येक हीरों को बेचकर 2 करोड़ पचास लाख रुपए कमाने की योजना बनाई थी।
आरोपी सहित 55 लाख का मशरूका किया जब्त
एसपी ने बताया कि 5 नग असली हीरे, 250 नग नकली हीरे, दो देशी कट्टे, दो जिन्दा कारतूस, दो जोड़ चांदी की पायल, तीन जोड़ बिछिया. पन्द्राह हजार रुपए नगदी कुल मशरुका 55 लाख रुपए का आरोपी करण पिता शांतिलाल झारखण्डे निवासी आमडोह थाना साईखेड़ा, पिन्टू पिता रामप्रसाद नागले निवासी हमलापुर, शुभम पिता शिवाजी गायकवाड़ निवासी हमलापुर,  रितिक पिता योगेश चन्द्रहास निवासी कालापाठा,  पंकज पिता पप्पू कडवे निवासी हमलापुर , रोहित पिता रमेश मरकाम निवासी दुर्गावार्ड बैतूल को गिरफ्तार किया है। इनमें दो सहित दो विधि विरुद्ध बालक निवासी बैतूल भी शामिल है।