असीरगढ किले की पहाडी का गंगा जमुना कुंड को तात्रिको ने बनाया अवैध संबधों के खुलासा के क्रियाकलापो का अड्डा

मयंक शर्मा

खंडवा ३० अक्टूबर ;अभी तक; दक्षिण के द्वार के नाम से पख्यात असीरगढ़ किले पर तांत्रिक और ओझा सक्रिय हो गए हैं। गुरुवार को हैदराबाद से असीर गढ किले को देखने आए हैद्राबाद के सहायक आयकर आयुक्त यहां झाडू फूंक कर  अवैध संबंधो का खुलासा करने के लिये अपनाये जा रहे टोने टोटके देेख हैरत में पड़ गए। तथाकथिम तांत्रिक ने आयुक्त से कहा हम पुरुष का महिला और महिला से पुरुष के अवैध संबंध उगलवाते हैं। एके बारफिर  केंद्रीय पुरातत्व के क्षेत्रीय सहायक संरक्षक के पास गुरूवार को शिकायत पहुंची है।

                यहां असीरगढ़ के निचले हिस्से में पहाड़ी के अंदर गंगा-जमुना कुंड है। यहीं कुछ सालों से तांत्रिक और ओझा तंत्र-मंत्र से संदिग्ध महिला के अवैध संबंधों के खुलासे करने का दावा कर रहे हैं। कुछ माह पहले कलेक्टर प्रवीण सिंह ंने ओझाओं को यहां से पुलिस की मदद से भगा दिया था। केंद्रीय पुरातत्व सहायक संरक्षक विपुल कुमार मेश्राम के संज्ञान में भी मामला है।
                 गुरुवार को हैदराबाद के आयकर सहायक आयुक्त सुरेशजी और बुरहानपुर पीडब्ल्यूडी के अफसर पहुंचे थे। जादू-टोना की क्रियाओं में  महिलाओं की प्रताडना देख आयकर सहायक आयुक्त बोले यह क्या है सब। इतिहास के जानकार कमरुद्दीन फलक से भी आयुक्त ने इस संबंध में पूछताछ एव चर्चा की है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *