अहिल्याबाई में प्रशासनिक गुण ओर राज्य संचालन की अदभुत क्षमता थी,अनिल शर्मा

8:06 pm or May 31, 2022

महावीर अग्रवाल

मंदसौर , पिपलीया मंडी ३१ मई ;अभी तक; रानी अहिल्याबाई होल्कर भारत की उन प्रमुख महिला शासिकाओं में से है जिन्होंने अपना राज्य स्वयं सम्भाला है। अहिल्याबाई होल्कर मराठा रानी थी,ओर उनमें प्रशासनिक गुण और राज्य संचालन की अदभुत क्षमता थी।अहिल्याबाई को उनकी प्रजा ने देवी के दर्जा दिया हुवा था वे बहुत ही निपुण योध्या ओर एक अच्छी तीरंदाज थी,उन्हें न्याय की देवी भी कहा जाता था।उक्त बात मल्हारगढ़ ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा ने मंगलवार को काचरिया में देवी अहिल्याबाई की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कही।जिला कांग्रेस के महामन्त्री अशोक खींची ने कहा कि अहिल्याबाई ने अपने पूरे जीवन मे कदम पर दुखो को झेलने पर भी अपनी प्रजा का एक पुत्र की भांति पालन किया उनके इन्ही गुणों के कारण जनसाधरण में उन्हें देवी का स्थान प्रदान किया और वे लोकमाता के नाम से भी जानी गई।अहिल्याबाई अपने निजी जीवन मे धार्मिक प्रवृत्ति की महिला थी इसलिए उनके द्वारा धार्मिक क्षेत्र में काफी महत्वपूर्ण कार्य किये गए।

इस मौके पर ब्लॉक कांग्रेस महामन्त्री दिनेश गुप्ता,पंकज बोराना,कांग्रेस नेता सरफराज मेव,मदन चोहान,सरपंच श्यामलाल लकुम,नगर अध्यक्ष कृष्णकांत माली,ईश्वरलाल धनगर, गोपाल धनगर, आदि मौजूद थे।