आईओसीएल ने जिला अस्पताल को दिए 10 ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर

मयंक भार्गव

बैतूल १४ जून ;अभी तक;  कोरोना की दूसरी लहर में दवाओं से अधिक ऑक्सीजन की किल्लत रही। कई मरीजों की जान ऑक्सीजन नहीं मिलने की वजह से चली गई। दूसरी लहर अब समाप्ति की ओर है, लेकिन जिन लोगों और संगठनों ने दूसरी लहर में मरीजों की मदद की है उनका जनसेवा का जज्बा अब भी कम नहीं हुआ है। आईओसीएल तेल कंपनी मरीजों की सेवा के लिए आज भी तत्पर है और सक्रिय होकर सेवा कार्य कर रही है।

10 भेंट किए ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर

हाल ही में कोरोना संकट में मरीजों की मदद करने के लिए ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए आइओसीएल कंपनी ने 10 ऑक्सीजन कंसंट्रेटेड जिला चिकित्सालय को भेंट किए। आयओसीएल कंपनी के भोपाल क्षेत्रीय कार्यालय के अधिकारियों के दिशा- निर्देश पर 10 लीटर क्षमता वाले 10 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भेंट किए जाने से अब मरीजों को काफी राहत मिलेगी। गौरतलब है कि ऑक्सीजन कंसंट्रेटेड कोरोना महामारी एवं अन्य बीमारियों में मरीजों के लिए प्राणवायु का काम करती है। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर एक ऐसी मशीन है, जो बिजली से संचालित होने के बाद ऑक्सीजन पैदा करती है। इस मशीन से मरीज को काफी राहत मिलती है।

आईओसीएल जन सेवा के तहत कर रही कार्य

कंपनी के जिला सेल्स अधिकारी प्रतीक गोहिल ने बताया कि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए मरीजों के सहायतार्थ ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एके तिवारी एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ राजकुमार धुर्वे की उपस्थिति में भेंट किए गए हैं। उल्लेखनीय है कि आईओसीएल कंपनी कोरोना से जंग में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। शुरुआती दौर से ही आईओसीएल कंपनी द्वारा जनसेवा के तहत विशेष अभियान चलाया जा रहा है। विगत दिनों भी कंपनी द्वारा अपने समस्त कर्मचारियों और उपभोक्ताओं की सुरक्षा के मद्देनजर सभी का वैक्सीनेशन करवाया गया।

कोविड के खिलाफ निभा रही कंपनी भूमिका

श्री गोहिल ने बताया कि कंपनी सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर कोविड के खिलाफ इस जंग में अपनी भूमिका निभा रही है। क्षेत्रीय कार्यालय भोपाल के अधिकारी वी सतीश कुमार, पीयूष मित्तल, अंबर अहमद द्वारा भी महाराष्ट्र की सीमा पर बसे बैतूल जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बढऩे पर चिंता जताई थी। इसलिए कंपनी के दिशा निर्देश अनुसार जिला चिकित्सालय प्रबंधन को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर सौंपे पर जाने की पहल की गई।  कंपनी के इस प्रयास से कोरोना संकट से निपटने में निश्चित ही राहत मिलेगी। श्री गोयल ने बताया कि कंपनी की मंशा है कि इस संकट की घड़ी में सभी आगे आएं और यथासंभव मानवता के लिए सेवा करें।