आउटसोर्सिंग कंपनियों एवं लोक शिक्षण संचनालय द्वारा माननीय हाईकोर्ट के आदेश की उड़ाई जा रही है धज्जियां

भोपाल १० सितम्बर ;अभी तक; व्यवसायिक प्रशिक्षक संघ मध्य प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष प्रकाश यादव ने कहा है कि  मध्य प्रदेश के लगभग 1200 शासकीय उत्कृष्ट एवं हाई स्कूल में कार्यरत व्यवसायिक प्रशिक्षकों के पक्ष में हाईकोर्ट की डिविजनल बेच ने प्रशिक्षकों को बिना किसी चयन प्रक्रिया के जो जहां कार्यरत हैं वहीं पर कंटिन्यू करने का अंतरिम आदेश दिनांक 17/08/ 21 को दिया था। लेकिन रमसा के कुछ अधिकारियों एवम कंपनियों की मिलीभगत के कारण पर्दे के पीछे कंपनियों द्वारा डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के नाम से व्यवसायिक प्रशिक्षकों को परेशान किया जा रहा है डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन करवाना भी चयन प्रक्रिया का एक हिस्सा है
उन्होंने कहा कि जब हाईकोर्ट ने किसी भी चयन प्रक्रिया के बिना प्रशिक्षकों को कार्यरत रखने का का आदेश लोक शिक्षण संचनालय को दिया है उसके बावजूद भी माननीय हाईकोर्ट के अंतरिम आदेश की धज्जियां  इन कंपनियों द्वारा उड़ाई जा रही हैं ।