आऊट सोर्सिंग कर्मचारी के बाद सहायक शिक्षक भी पाजीटिव

मयंक भार्गव

बैतूल १४ जनवरी ;अभी तक;  कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर में प्रदेश भर में बड़ी संख्या में बच्चों के संक्रमित होने के बावजूद स्कूलों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को संक्रमण से बचाने के लिए स्कूल प्रबंधन द्वारा पुख्ता इंतजामात करने की बजाए गंभीर लापरवाही बरती जा रही है। ताजा मामला जिला मुख्यालय बैतूल स्थित गंज कन्या हा.से.स्कूल बैतूल में आऊट सोर्सिंग कर्मी और सहायक शिक्षक के संक्रमित होने के बावजूद स्कूल प्रबंधन द्वारा न तो समय पर प्रशासन को इसकी सूचना दी गई और ना ही संक्रमितकर्मी  शिक्षक की कांट्रेक्ट हिस्ट्री की जानकारी जुटाकर उनके संपर्क में आए शिक्षकों छात्राओं की सूची प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध गई जिससे संदिग्धों को चिन्हित कर उनके सेम्पल लिए जा सके। शाला में पदस्थ एक कर्मचारी एवं शिक्षक के पाजीटिव आने के बाद गुरूवार को भी कुछ छात्राएं स्कूल में आयी। हालांकि उन्हें घर भेज दिया गया। स्कूल की प्राचार्य इंदू बचले ने बताया कि बुधवार एवं गुरूवार को संक्रमितों की जानकारी प्रशासनिक स्वास्थ्य एवं शिक्षा विभाग के अधिकारियों को देकर एसएसडीसी की बैठक में हुए निर्णय के बाद तीन दिनों के लिए स्कूल बंद कर दिया गया। इधर संक्रमितकर्मी एवं सहायक शिक्षक के संपर्क में आए शिक्षकों एवं छात्राओं में हड़कम्प मचा हुआ है।

पाजीटिव आने के एक घंटे पहले गए थे स्कूल

शासकीय कन्या हायर सेकेंडरी स्कूल गंज बैतूल में पदस्थ आऊट सोर्सिंग कर्मचारी के कोरोना संक्रमित होने के बाद शाला में पदस्थ एक सहायक शिक्षक गुरूवार को संक्रमित पाए गए। संक्रमित सहायक शिक्षक गुरूवार प्रात: साढ़े दस बजे स्कूल गए थे। उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर करने के बाद जिला अस्पताल बैतूल में प्रात: सवा ग्यारह बजे उन्होंने एंटीजन टेस्ट कराया जिसमें उनकी रिपोर्ट कोरोना पाजीटिव आई  जिसके बाद सहायक शिक्षक का आरटीपीसीआर के लिए सेम्पल लेकर चिकित्सकों ने 14 दिनों के लिए होम आईसोलेशन में रहने के निर्देश दिया। उल्लेखनीय है कि एंटीजन टेस्ट में कोरोना संक्रमित आए सहायक शिक्षक कक्षा 12 वीं की छात्राओं को कॉर्स पढ़ाते हैं। पाजीटिव आने के कुछ मिनट पहले तक सहायक शिक्षक के शाला में आने से शाला में पदस्थ शिक्षकों सहित छात्राओं में हड़कम्प मचा हुआ है।

नपा ने सैनेटाईज किया स्कूल परिसर

कन्या हा.से. स्कूल गंज के आऊट सोर्सिंग कर्मी तथा सहायक शिक्षक के पाजीटिव आने की जानकारी पत्र के माध्यम से शाला की प्राचार्य द्वारा इंसीडेंट कमांडर बैतूल एसडीएम, जिला शिक्षा अधिकारी सहित स्वास्थ्य एवं नपा बैतूल के अधिकारियों को दी गई थी। गुरूवार को नपा अमले ने शाला भवन एवं परिसर को सैनेटाईज किया गया। गुरूवार सुबह तक प्रशासन शाला प्रबंधन द्वारा स्कूल बंद करने को लेकर निर्णय नहीं लेने से शिक्षक एवं छात्राएं स्कूल आए। हालांकि एहतियात बरतते हुए शिक्षकों ने छात्राओं को वापस भेज दिया गया। सूत्रों की माने तो संक्रमित कर्मी सहित सहायक शिक्षक के संपर्क में आए कुछ शिक्षकों को सर्दी जुकाम की शिकायत होने पर वे सस्पेक्टेड माने जा रहे हैं।

संपर्क में आए शिक्षकों को टेस्ट कराने दिए निर्देश: प्राचार्य

शासकीय कन्या हा.से. स्कूल की प्राचार्य इंदू बचले ने बताया कि शाला के एक कर्मचारी के कोरोना संक्रमित होने के बाद गुरूवार को एक सहायक शिक्षक की रिपोर्ट पाजीटिव आयी है जिसकी सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई तथा एसडीएमडीसी की बैठक बुलाकर वर्तमान स्थिति पर विचार विमर्श कर तीन दिनों के लिए स्कूल बंद करने का निर्णय लिया गया। प्राचार्य ने बताया कि अब सोमवार से स्कूल संचालित होगा। प्राचार्य के मुताबिक कर्मचारी सहित सहायक शिक्षक के संक्रमित होने के बाद शाला में पदस्थ सभी शिक्षकों-कर्मचारियों को सूचना पजी के माध्यम से संक्रमितों के संपर्क  में आए लोगों को टेस्ट कराने के निर्देश दिए हैं।

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *