‘आओ धरती की सुध ले‘‘ प्रकल्प के तहत विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस पर कार्यशाला का आयोजन 

5:54 pm or July 29, 2022
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर २९ जुलाई ;अभी तक;  पर्यावरण एवं जल संरक्षण के क्षेत्र में जिले में कार्य कर रही अग्रणी संस्था सार्थक सोशल वेलफेयर सोसाइटी ने ‘‘आओ धरती की सुध ले‘‘ प्रकल्प के तहत विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस पर कार्यशाला का आयोजन सीतामऊ पब्लिक स्कूल में किया गया।
                 कार्यशाला की जानकारी देते हुए सीतामऊ पब्लिक स्कूल की प्राचार्य शबाना शेरबानो ने बताया कि पर्यावरण एवं जल संरक्षण के क्षेत्र में जिले मे कार्य कर रही अग्रणी संस्था सार्थक सोशल वेलफेयर सोसाइटी  की टीम ने आज एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन  धरती की सुधि लें प्रोजेक्ट के अंतर्गत किया इसके तहत सार्थक संस्था की गतिविधि कोऑर्डिनेटर श्रीमती रचना डोसी ने छात्रों को वर्चुअल जंगल वाक कराया। सीड बॉल्स कैसे बनाएं और उनका प्रकृति को सघन करने में किस प्रकार उपयोग करें इस गतिविधि को छात्रों के समक्ष विक्रम सिंह ने बहुत प्रभावी तरीके से सिखाया।
                प्रोफेसर प्रेरणा मित्रा ने डू और डोंट के माध्यम से यह सिखाया कि छात्र जीवन में आप किस प्रकार बेहतर पर्यावरण मित्र बनकर स्वच्छ और स्वस्थ समाज बनाने में अपनी भूमिका का निर्वाह कर सकते हो ,साथ ही मिट्टी और प्रकृति से कैसे जुड़े रहें यह भी सिखाया। सिंगल प्लास्टिक यूज नहीं करने के संबंध में भी छात्रों को जागरूक किया। विज्ञान क्विज को रचना दोषी, विजय रघुवंशी और प्रेरणा मित्रा ने बहुत ही नवाचारी प्रयोग से संपन्न कराया।
             इसमें भाग लेने वाली 3 टीम के छात्रों के अतिरिक्त ऑडियंस में बैठे छात्रों ने भी प्रश्नों के उत्तर देकर पुरस्कार बटोरे। विजेता एवं उपविजेता टीम को सार्थक की संस्थापक डॉ. उर्मिला तोमर द्वारा शील्ड प्रदान की गई। कार्यक्रम के संबंध में छात्रों से फीडबैक फार्म भी भरवाए गए। इस कार्यशाला में ‘‘हर घर झंडा अभियान अवेयरनेस प्रोग्राम’’ को शामिल करते हुए सभी छात्रों को विस्तृत जानकारी दी गई। झंडा कहां से प्राप्त करें ,कैसे लगाएं ,हर घर झंडा अभियान क्या है, साथ ही यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा गया कि प्लास्टिक का झंडा प्रयोग ना करें खादी के झंडे ही लगाएं। कार्यक्रम के अंत में सार्थक की समस्त टीम के प्रति संस्था की उप प्राचार्य द्वारा आभार व्यक्त किया गया।