आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम अंतर्गत ग्राम मल्हारगढ़ एवं जग्गाखेड़ी, जिला मंदसौर में विधिक साक्षरता शिविर सम्पन्न

महावीर अग्रवाल

         मन्दसौर २२ अक्टूबर ;अभी तक;      राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के दिशा-निर्देशानुसार दिनांक 02.10.2021 से 14.11.2021 तक आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अनुक्रम में माननीय प्रधान जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री विजय कुमार पाण्डेय के मार्गदर्शन में दिनांक 22.10.2021 को स्थान पंचायत भवन, ग्राम मल्हारगढ़, जिला मंदसौर में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया एवं ग्राम पंचायत सचिवों की बैठक का भी आयोजन किया गया।
उपरोक्त कार्यक्रम में जिला न्यायाधीश/सचिव श्री मो. रईस खान ने अपने संबोधन में राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर द्वारा दी गई गईड लाईन अनुसार जिले में मनाये जा रहे आजादी अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में लोगों तक विधिक जागरूकता के लिए पहुंच बनाने एवं योजनाओ के प्रचार-प्रसार के संबंध में विस्तृत रूप से जानकारी दी। इस अवसर पर उन्होनें दैनिक जीवन में आने वाले विभिन्न कानूनों की जानकारी दी तथा ़जनपद पंचायत मल्हारगढ के अंतर्गत आने वाली 78 पंचायतों की टीम गठित की, जो ग्राम स्तर पर उक्त अभियान के संबंध में जागरूक कर विभिन्न योजनाओं के प्रचार-प्रसार में सहयोग करेंगे। इस अवसर पर पंचायत सचिवों को सालसा विभिन्न योजनाओं से संबंधित पेम्प्लेट्स भी उपलब्ध कराये गये।
बैठक में जनपद पंचायत मल्हारगढ़ के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री मेहरबानसिंह ठाकुर, पंचायत निरीक्षक, सहायक यंत्री, उपयंत्री व सचिव इत्यादि लोग उपस्थित रहे। बैठक के अंत में मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री मेहरबानसिंह ठाकुर द्वारा सभी के प्रति आभार माना।
उपरोक्त अभियान के अनुक्रम में दिनांक 22.10.2021 को ग्राम पंचायत जग्गाखेड़ी के पंचायत भवन में भी विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया।
उपरोक्त कार्यक्रम की अध्यक्षता न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री समीर कुमार मिश्र द्वारा की गई। उपरोक्त शिविर न्यायाधीश श्री समीर कुमार मिश्र द्वारा ’’पंच-ज’’ अभियान की भी जानकारी देते हुए कहा कि पेड़ मानव जीवन के लिए बहुत आवश्यक है वे हमारे लिए आक्सिजन का पर्याप्त स्त्रोत है। हमारे पूर्वजों द्वारा लगाये गये वृक्षों से ही आज हम सांस ले पा रहे, इसलिये हमें अपनी आने वाली पीढ़ियों के लिए भी वृक्ष लगाने चाहिये। श्री मिश्र द्वारा नदियों व जलीय जिवों के महत्व के बारे में बताया कि वे पर्यावरण का संतुलन बनाये रखने के लिए कितने आवश्यक है। साथ ही यह भी बताया कि पर्यावरण प्रदुषण न हो इसके लिये सभी को जागरूक होना होगा। तभी हमें स्वच्छ वायु, स्वच्छ जल, स्वच्छ भोजन प्राप्त हो सकेगा।
श्री समीर कुमार मिश्र द्वारा भारतीय संविधान में प्रावधानित मौलिक अधिकारों व कर्तव्यों के संबंध में विस्तारपूर्वक चर्चा कर महिलाओं एवं बच्चों से संबंधित कानूनों से उपस्थित ग्रामीणजन को अवगत कराया। उन्होने बताया कि दण्ड प्रक्रिया संहिता के अंतर्गत माता-पिता अपने पुत्र व पुत्री दोनों से ही भरण-पोषण प्राप्त करने के हकदार है और संबंधित कानूनों के प्रति जागरूक रहने हेतु आगृह भी किया।
उपरोक्त शिविर में न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री समीर कुमार मिश्रा, ग्राम पंचायत जग्गाखेड़ी के जनपद सदस्य प्रतिनिधि श्री बनासिंह, पटवारी कैलाशचन्द्र, गणमान्य नागरिक श्री भंवरलाल, श्री मनोहरलाल ग्रामीणजन इत्यादि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन अवधेश कुमार दीक्षित ने किया एवं आभार ग्राम पंचायत सचिव श्री विनोदसिंह गेहलोत द्वारा माना गया।
उपरोक्त विधिक साक्षरता शिविरों में ग्रामीणजनों को पेम्प्लेट्स इत्यादि वितरित किए गए।