आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम अंतर्गत ग्राम सिंदपन में विधिक साक्षरता शिविर सम्पन्न 

महावीर अग्रवाल 
        मन्दसौर 4 अक्टूबर अभी तक ;       राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के दिशा-निर्देशानुसार दिनांक 02.10.2021 से 14.11.2021 तक आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अनुक्रम में माननीय प्रधान जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री विजय कुमार पाण्डेय के आदेशानुसार दिनांक 04.10.2021 को ग्राम सिंदपन, तहसील मल्हारगढ़, जिला मंदसौर में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया।
               उपरोक्त विधिक साक्षरता शिविर का प्रारंभ माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलन कर किया गया। उक्त शिविर का आयोजन निःशुल्क विधिक सहायता उपलब्ध कराने के लिये नालसा की डाकघर विभाग के साथ सहयोगात्मक परियोजना के क्रियान्वयन हेतु डाकघर विभाग के अधिकारीगण को सम्मिलित करते हुए किया गया।
               शिविर में विशेष न्यायाधीश श्री अनीष कुमार मिश्रा द्वारा वर्णित किया कि राष्ट्रीय स्तर की 02 ऐसी संस्थाओं द्वारा एक साथ समन्वय स्थापित कर योजनाओं का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है, जो तहसील स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक आमजन के हितार्थ उद्देश्यों की पूर्ति में संलग्न है। तत्पश्चात् श्री मिश्रा द्वारा वर्तमान में मोबाईल इत्यादि को सावधानीपूर्वक रूप से उपयोग में लाए जाने हेतु ग्रामीणजन को जागरूक कर सायबर क्राईम के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री मो. रईस खान द्वारा दिनांक 02 अक्टूबर से 14 नवम्बर 2021 तक निरंतर चलने वाले आजादी के अमृत महोत्सव अभियान के उद्देश्य से अवगत कराते हुए बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण का प्रमुख उद्देश्य पंक्ति में खड़े हुए अंतिम व्यक्ति तक न्याय पहुंचाना है। इसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु गांव-गांव जाकर प्राधिकरण द्वारा इस प्रकार के विधिक साक्षरता शिविरों का आयोजन किया जाता है।
                इसी अनुक्रम में श्री खान द्वारा पीड़ित प्रतिकर योजना, प्राधिकरण द्वारा निरंतर चलाये जा रहे ’’पंच-ज’’ अभियान पर प्रकाश डाला एवं राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर द्वारा संचालित विभिन्न प्रकार की योजनाओं से विस्तारपूर्वक अवगत कराया। डाक विभाग के संभागीय अधीक्षक श्री राजेश कुमावत द्वारा डाक विभाग की पृष्ठ भूमि से अवगत कराते हुए उनके विभाग से संबंधित संचालित की जा रही डाक जीवन बीमा द्वारा संचालित विशेष बीमा योजना के संबंध में बताया कि यह योजना पूर्ण रूप से कम प्रीमियम-अधिक बोनस पर आधारित होकर प्रीमियम पर आयकर से छूट प्राप्त है इसी तरह बालिकाओं के हितार्थ संचालित सुकन्या समृद्धि खाता योजनाओं सहित विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई और बताया कि कोविड-19 के दौरान डाक विभाग द्वारा दवाईयां, अन्य आवश्यक वस्तुओं को भी जरूरतमंद व्यक्तियों के घर तक पहुंचाने का कार्य बड़े पैमाने पर किया गया।
                    जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री योगेश बंसल द्वारा विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम 1987 के अंतर्गत प्रावधानों पर प्रकाश डालते हुए निःशुल्क विधिक सहायता व सलाह योजना, लोकोपयोगी लोक अदालत एवं अन्य आवश्यक महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी दी गई। नारायणगढ़ थाना प्रभारी श्री अवनीश श्रीवास्तव द्वारा विधिक सहायता व पुलिस की समाज में महत्वपूर्ण भूमिका को व्यक्त करते हुए कहा कि सभी को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहकर पुलिस की मदद करना चाहिये। उक्त विधिक सा़क्षरता शिविर के दौरान आयुष्मान कार्ड बनाये जाने हेतु भी स्टॉल लगाया गया।
                  उपरोक्त विधिक साक्षरता शिविर में जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.एस. ठाकुर, नायब तहसीलदार श्री भदौरिया जी, डाक विभाग के सहायक अधीक्षक श्री दिलीप कुमार गुप्ता, ग्राम सिंदपन के सरपंच श्री प्रताप सिंह जी, पैरालीगल वालेंटियर्स, सामाजिक कार्यकर्ता एवं ग्रामीणजन उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन श्री अवधेश कुमार दीक्षित द्वारा किया जाकर अभार सरपंच श्री प्रताप सिंह द्वारा किया गया।