आठ वर्षीय बालक के साथ अप्राकृतिक कृत्‍य करने वाले आरोपी को बीस वर्ष का कठोर कारावास

9:57 pm or May 7, 2022
संतोष मालवीय
भोपाल ७ मई ;अभी तक;  विशेष अपर सत्र न्यायाधीश श्रीमती पदमा जाटव (पॉक्‍सो एक्‍ट) की अदालत ने शनिवार को एक आठ वर्षीय बालक के साथ अप्राक़तिक कृत्‍य करने वाले वाले आरोपी आदित्‍य पिता मनोहर सिंह को पॉक्‍सो एक्‍ट की धारा धाराओं के साथ धारा 377 के आरोप में दोषी ठहराते हुए बीस वर्ष की कैद के साथ ग्यारह हजार रुपये के जुर्माने से दण्डित किया है।
                   अभियोजन पक्ष के अनुसार तेरह दिसम्बर 2020 को फरियादिया ने थाना बागसेवनिया में रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि ग्यारह तारीख को सुबह नौ बजे वह अपनी डयूटी के लिए गयी थी कि दोपहर लगभग एक बजे फरियादिया के मोबाइल पर आंगनवाडी वाली एक मैडम का फोन आया और बोली की आपके बेटे के साथ कुछ घटना हो गयी है तो वह उसी समय घर आयी और अपने बेटे से घटना जानी, तब उसके बेटे (पीडित) ने बताया कि वह घटना दिनांक को दिन के करीब 11:00 बजे वह स्‍कूल जा रहा था। तब स्‍कूल के गेट के पास उसे आरोपी आदित्‍य मिला और उसने उसका गला पकड़ कर आंगनवाडी केंद्र के पीछे बनी पानी की टंकी के पास ले गया जहां उसने पीडित के साथ अप्राक़तिक कृत्‍य किया था। तब उसकी माँ ने उक्‍त घटना आगंनवाढी तथा चाइल्‍ड लाइन के माध्‍यम से सूचना दी उसके बाद थाना बागसेवनिया में आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया था। प्रकरण में विवेचना बाद चालान अदालत में पेश किया गया था। जहाँ पीड़ित बालक की गवाही पर अदालत ने आरोपी को उक्त सजा के साथ जुर्माने से दण्डित किया है।