आदिवासी ग्राम इमलोनिया के ग्रामवासी मूल-भूत समस्याओं के लिए परेशान

11:38 pm or November 20, 2022

दीपक शर्मा

पन्ना 20 नवंबर , अभीतक

वर्तमान समय मे जहां एक ओर प्रदेश के खनिज मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह द्वारा अपने विधानसभा क्षेत्र मे विकास की गंगा बहाए जाने की बात की जा रही है। लेकिन देखने मे आ रहा है कि धरातल पर कुछ नही है, सिर्फ कोरे विकास का ढिंडोरा पीटा जा रहा है। आम लोगो को मूल भूत सुविधाए भी नही मिल रही है। पानी, बिजली, सडक, शिक्षा, स्वास्थ सुविधाओं से अधिकांश ग्राम बंचित है। अधिकारीयों द्वारा सिर्फ कागजो मे विकास दिखाकर जिला स्तर पर आयोजित समिक्षा बैठको मे आंकडे प्रस्तुत कर दिये जाते है। पन्ना विधानसभा मे जहां एक ओर कई करोड की राशि से नल जल योजना के लिए राशि खर्च की गई तथा गांव गांव मे पानी उपलब्ध कराने की बात की जा रही है। जबकी दूसरी ओर हकीकत मे कुछ नही है। लोग पानी, बिजली की समस्या से परेशान है।

पीएचई विभाग के माध्यम से आगनवाडी विद्यालयो मे तथा ग्रामो मे नल जल योजनाए संचालित करने की रिपोर्ट दी गई है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और है अनेक स्थानो पर केवल टंकिया रखी गई है। बोर से पानी नही आ रहा है, अनेको स्थानो पर बिजली का कनेक्श्न भी नही है। इसी प्रकार का मामला गहरा ग्रामपंचायत अन्तर्गत इमलोनिया आदिवासी बस्ती का है। जहां पर कुछ दिन पूर्व नल जल योजना प्रारंभ की गई थी तथा पानी की टंकी रखी गई थी। क्योकि उस समय मुख्यमंत्री जन समस्या निवारण शिविर आयोजित किया गया था जिसमे खनिज मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह स्वंय शामिल हुए थें। लोगो ने बताया कि दो दिन गांव मे बिजली रही तथा नल जल योजना भी चालू रही है। दो दिन के बाद उक्त नल जल योजना बंद है तथा गांव मे बिजली भी नही है अंधेरा छाया हुआ है। लोग भारी परेशान है। स्थानीय लोगो ने बिजली, पानी की व्यवस्था कराये जाने की मांग की है।