आपदा प्रबंधन मैं 12 साल से नहीं की गई कोई भर्ती, जिले में बारिश और बाढ़ को लेकर पर्याप्त इंतजाम नहीं 

छिंदवाड़ा से महेश चांडक
छिंदवाड़ा २६ जून ;अभी तक;  आपदा आने के पहले ही जिले का आपदा डिस्ट्रिक्ट कमांडेट होमगार्ड विभाग कई कमियों से जूझ रहा है स्टाफ की कमी है बाढ़ के समय भेजने के लिए जवानो की कमी है वर्तमान मैं 2 फाइवर बोर्ड प्रबंधन के पास है विभाग मैं 50 वर्ष के ऊपर से अधिक के लोग जवान भर्ती है संसाधन के रूप मैं लाइफ जैकेट की कमी है फ़िलहाल वर्तमन मैं जिले के सौसर, चाँद, चौरई और अमरवाड़ा सहित 9 संवेदनशील स्थान है जहा बाढ़ की स्थिति बनी रहती है
           डिस्ट्रिक्ट कमांडेट अधिकारी स्नेहलता पाठ्या नेबताया की विगत दिनों ही एक परिवार जो बाढ़ मैं फसा था जिन्हे निकालने के लिए विभाग के पास पर्याप्त इंतजाम नहीं होने के चलते बड़ी मुसीबत का सामना करना पड़ा वर्तमान मैं विभाग के पास 50 लाइफ जैकेट मैं से 25 सही है 25 कंडम हो गए है 2 फाइवर बोट है युवा बल की बहुत कमी है सिवनी से रबर बोर्ड मंगाई गई है उच्च अधिकारियो को आवश्यक वस्तुओ की ज्यादा आपूर्ति के लिए अवगत कराया गया है 12 साल से विभाग मैं इतने बड़े जिले के देखते हुए जवानो की भर्ती नहीं की गई है
           ज्ञात हो की छिंदवाड़ा जिला एक मॉडल के रूप विकसित एवं पहचाना जाता है परन्तु इस मॉडल जिले मैं आपदा को लेकर पर्याप्त इंतजाम नहीं होने से कही न कही जनप्रतिनिधि और अधिकारियो की भी लापरवाही सामने उजागर होती है ज्ञात हो की पिछले 2 वर्षो मैं जिले मैं अति वर्षा हुई है जिसके चलते बहुत से संवेदनशील स्थानों पर बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हुई थी