आपराधिक बल का प्रयोग कर छेड़छाड़ करने पर आरोपी की अग्रिम जमानत खारिज

प्रेम वर्मा

राजगढ़ 11 सितम्बर :अभी तक :राजगढ की तृतीय अपर सत्र एवं विशेष न्यायालय पाॅक्सो अधिनियम डाॅ अंजली पारे ने शराब के नशे में घर में घुसकर महिला के साथ छेड़छाड़ करने वाले अभियुक्त संजय (परिवर्तित नाम) की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज कर दी है। मीडिया प्रभारी आशीष दुबे ने बताया है कि फरियादिया ने आरक्षी केन्द्र भोजपुर में इस आशय की रिपोर्ट लिखाई कि उसकी सगाई हो चुकी है। अभियुक्त संजय (परिवर्तित नाम) उसे पिछले एक वर्ष से परेशान कर रहा है और वह जहां भी जाती है तो अभियुक्त उसका पीछा करता है तथा उसकी चोटी या दुपट्टा खींच देता है। यह बात उसने अपने घर वालों को नहीं बताई थी क्योंकि उसे डर था कि कहीं इस बारे में उसके ससुराल वालों को पता चल गया तो रिश्ता टूट जायेगा। 20 अगस्त 2020 को वह अपने घर पर सो रही थी उसी समय आरोपी संजय (परिवर्तित नाम) दारू पीकर उसके घर में घुस आया और बुरी नियत से उसका हाथ पकड़कर खींचने लगा। आरोपी संजय (परिवर्तित नाम) उसे अपने साथ चलने के लिये बाध्य कर रहा था। अभियुक्त ने उसको यह बात किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी थी । उसके चिल्लाने पर घर के अन्य सदस्य जाग गये थे जिसके उपरांत अभियुक्त को पकड़कर भोजपुर थाना ले जाकर अपराध धारा 354, 354घ, 457, 509 का अपराध दर्ज कराया था।

राज्य की ओर से विशेष लोक अभियोजक एवं जिला अभियोजन अधिकारी आलोक श्रीवास्तव ने न्यायालय के समक्ष तर्क किया कि अभियुक्त के द्वारा फरियादी को लगातार परेशान किया जा रहा था। यदि अभियुक्त संजय (परिवर्तित नाम) को अग्रिम जमानत का लाभ दिया गया तो वह उसको परेशान करता रहेगा और शराब के नशे में किसी और बड़ी घटना को अंजाम दे सकता है। इस कारण अभियुक्त को जमानत पर रिहा न किया जावे। उक्त तर्को एवं पीड़िता की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुये न्यायालय ने अग्रिम जमानत अर्जी खारिज की है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *