आबकारी एक्‍ट के तहत न्‍यायालय उठने तक की सजा एवं रूपये 1000/-  अर्थदण्‍ड 

सीहोर ७ नवंबर ;अभी तक; श्रीमति सारिका भाटी जे.एम.एफ.सी. आष्‍टा के न्‍यायालय ने आबकारी एक्‍ट के तहत न्‍यायालय उठने तक  एवं रूपये 1000/-  अर्थदण्‍ड की सजा सुनाई
                      मीडिया सेल प्रभारी श्री केदार सिंह कौरव द्वारा बताया गया कि घटना इस प्रकार है कि मुखबिर से मिली सूचना कि एक व्‍यक्ति एक प्‍लास्टिक की थैली में शराब लेकर चौपाटी आष्‍टा से शुजालपुर रोड पर गया है सूचना तस्‍दीक हेतु मय हमराही आरक्षक कुन्‍दन के साथ शुजालपुर रोड पर पहुंचा तो रोड की पहली पुलिया के पास उक्‍त लखन हाथ में प्‍लास्टिक का थैला लिए जाता मिला जिसे राहगीर पंचान राकेश मेवाडा, जीवन सिंह मेवाडा के सामने रोड पर रोका  साक्षियों एवं लखन गोस्‍वामी को मुखबिर सूचना से अवगत कराकर लखन के झोले की तलाशी ली गई तो झोले में 18 क्‍वाटर देशी शराब प्‍लेन शीलबंद हालत में मिले जिनको रखने ले जाने बेचने का आरोपी से मदिरा का लायसेंस्‍ पूंछा तो न होना बताया। आरोपी का कृत्‍य आबकारी अधिनियम को होने से और आरोपी को गिरफतार किया गया और आरोपी के विरूद्ध म.प्र. आबकारी अधिनियम 1915 की धारा 34 आबकारी के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया।
                   श्रीमति सारिका भाटी जे.एम.एफ.सी. आष्‍टा के न्‍यायालय में अभियुक्‍त लखन गोस्‍वामी पिता नारायण गोस्‍वामी उम्र 45 साल निवासी कुमडावदा आष्‍टा जिला सीहोर को आबकारी अधिनियम 1915 की धारा 34 के तहत न्‍यायालय उठने तक सजा एवं 1900/- रूपये के अर्थदण्‍ड से दंडित किया गया।
                 अभियोजन की ओर से पैरवी श्रीमती रानी जैन, सहायक जिला अभियोजन अधिकारी आष्‍टा जिला  सीहोर द्वारा की गई।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *