आबकारी विभाग की जिले में बड़ी कार्रवाई, सैलानी टापू पर सुलग रही थीं शराब की भट्टियां

मयंक शर्मा
खंडवा १७ नवंबर ;अभी तक;  नर्मदा घाटी के ओंकारेश्वर  बांध के बेकवाटर में आकार ले गये सैलानी टापू पर आबकारी दविश ने पाया कि मौके पर ं शराब की भट्टियां सुलग रही थी।मंगलवार को आबकारी विभाग की टीम तीन नावों से टापू पहुंची, लेकिन
इन्हें आता देख शराब बनाने वाले 25 से अधिक बदमाश नावों में सवार हांेकर फरार हो गए। मौके से टीम ने करीब 13 लाख रूपये कीमत का 222 ड्रमों से करीब 24400 किलो महुआ लहान जब्त किया गया है।
                   जिला आबकारी अधिकारी रामप्रकाश किरार ने बताया कि सैलानी टापू पर फैले जंगल में बड़े पैमाने पर अवैध रूप से महुआ से शराब बनाई जा रही थी। यहां 20 से अधिक भट्टियों में शराब बनाई जा रही थ्ी। उन्होने  बताया कि खंडवा
और खरगोन जिले के सीमावर्ती मांधाता क्षेत्र में अवैध शराब बनाने की शिकायत पर पूर्व में हुई कार्रवाई के बाद बदमाशों ने सैलानी टापू को ठिकाना बना लिया था। दविश टीम मे आबकारी निरीक्षक दीपक रोकड़े, शेरसिंह मौर्य, अंकित सोलंकी, हेमलता मोवेल शामिल थे। दीपक रोकडे ने कहा कि मोके से  जब्त महुआ लहान से 20-22 लाख रुपये मूल्य की शराब बन सकती थी।
               आबकारी अधिकारी ने बताया कि खंडवा जिले में यह अभी तक की यह सबसे बड़ी कार्रवाई है।े पंचनामा बनाकर सामग्री को नष्ट किया गया है।  बैक वाटर में कार्रवाई के दौरान टीम के सदस्यों ने सैफ्टी जैकेट पहन रखी थी। पानी अधिक
होने और जंगल की वजह से बदमाशों का पीछा नहीं किया गया। इसका फायद उठाकर बदमाश नावों में तैयार शराब लेकर फरार हो गए। लहान और शराब बनाने में प्रयुक्त होने वाली सामग्री का मूल्य करीब 13 लाख रुपये आंका गया है। अज्ञात बदमाशों के विरुद्ध आबकारी अधिनियम में प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस की मदद से इनकी तलाश की जाएगी।