आयुष मंत्री श्री कावरे ने कानून व्यवस्था को लेकर अधिकारियों की बैठक ली, माफिया एवं गौतस्करों पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश

आनंद ताम्रकार

बालाघाट  १९ नवंबर ;अभी तक;

 मध्य प्रदेश शासन के आयुष मंत्री श्री रामकिशोर “नानो” कावरे ने आज 19 नवम्बर को कानून व्यवस्था को लेकर कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में एसडीएम एवं पुलिस अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में कलेक्टर डॉ गिरीश कुमार मिश्रा, पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक तिवारी, अपर कलेक्टर श्री शिवगोविंद मरकाम, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री गौतम सोलंकी, बालाघाट एसडीएम श्री के सी बोपचे, वारासिवनी एसडीएम श्री संदीप सिंह, किरनापुर एसडीएम सुश्री निकिता सिंह मंडलोई, वारासिवनी, लांजी, बैहर के अनुविभागीय अधिकारी पुलिस एवं लांजी, कटंगी के तहसीलदार उपस्थित थे।
गौतस्करी में लिप्त वाहनों को राजसात किया जाये
                     आयुष मंत्री श्री कावरे ने बैठक में अधिकारियों से कहा कि बालाघाट जिले को गौ तस्करी से मुक्त करना हमारा मिशन है और इसमें सभी अधिकारियों को संवेदनशील होकर कार्य करने की जरूरत है। जिले में कहीं पर भी गौ तस्करी पर रोक लगाने के लिए कड़े कदम उठायें जायें और इसमें लिप्त लोगों पर सख्त कार्यवाही की जाये। जिले में कहीं पर भी ऐसे कोई गतिविधि चल रही हो तो वह पुलिस के संज्ञान में होना चाहिए और इसके लिए संबंधित थाने के प्रभारी को जिम्मेदार माना जाना चाहिए। गौ तस्करी किये जाने वाले जिले के ऐसे क्षेत्रों को चिन्हित किया जाये और उनमें सतत निगरानी की जाये। गौतस्करी में जो व्यक्ति बार-बार पकड़ा जा रहा हो उसके विरूद्ध जिला बदर की कार्यवाही की जाये और गौ तस्करी में लिप्त वाहनों को सीधे राजसात करने की कार्यवाही की जाये।
                   मंत्री श्री कावरे ने कहा कि बालाघाट जिले को गौतस्करी से मुक्त बनाना हमारा लक्ष्य है और इसे पूरा करने के लिए हम पूरी तत्परता के साथ काम करेंगें। गौतस्करी रोकने के लिए जिले में लगने वाले मुख्य पशु बाजारों पर निगरानी रखी जाये। किसान अपनी जरूरत के अनुसार ही बैल या पशु क्रय करता है। किसान पशु बाजार से एक साथ दो जोड़ी बैल नहीं खरीद सकता है। किसान को बाजार से दो बैल क्रय करने की ही अनुमति हो, यदि वह इससे अधिक क्रय करता है तो मामला संदेहजनक हो जाता है। ऐसे मामलों की जांच की जाये। यदि कोई व्यक्ति ईमानदारी से स्वयं के लिए पशु क्रय कर ले जा रहा है तो उसके पास पूरे दस्तावेज होने चाहिए।
                मंत्री श्री कावरे ने बैठक में अधिकारियों से कहा कि वे अपने क्षेत्र में कालोनाईजर एक्ट का पालन कड़ाई से करायें और अवैध रूप से प्लाटिंग करने वालों पर कार्यवाही करें। कालोनाईजर को 25 प्रतिशत प्लाट बीपीएल के लोगों को देना एवं 15 प्रतिशत भूमि सड़क, हाल, गार्डन आदि के लिए आरक्षित रखना अनिवार्य है। मंत्री श्री कावरे ने जिले में खनिज के अवैध उत्खनन एवं परिवहन, भू-माफिया एवं राशन माफियाओं पर भी कड़ी कार्यवाही करने कहा और इसमें लिप्त वाहनों को राजसात करने की अवश्यकता बताई।
कलेक्टर डॉ मिश्रा ने बैठक में कहा कि आयुष मंत्री जी द्वारा गौतस्करी रोकने एवं अन्य मामलों में जो निर्देश दिये गये है, उनका जिले में कड़ाई से पालन कराया जाये। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे गौतस्करी रोकने के लिए गौ संरक्षण अधिनियम एवं पशु क्रूरता अधिनियम का कड़ाई से पालन करें। पशुओं का नियम विरूद्ध परिवहन करने वाले वाहनों की जांच की जाये और ऐसे वाहनों को राजसात करने के प्रस्ताव उनके समक्ष रखा जाये। गौ-तस्कर, राशन एवं भू माफियाओं के लिए थाने में एफआईआर दर्ज होना चाहिए और ऐसे लोगों के विरूद्ध जिला बदर की कार्यवाही भी की जायेगी।