आरटीआई कार्यकर्ता सतीश शेंडे की जंघन हत्या, शव खेत में फेंका

आनंद ताम्रकार

बालाघाट 2 जनवरी ;अभी तक;  बालाघाट जिले की लांजीमें  सतीश शेंडे आरटीआई कार्यकर्ता की जंघन हत्या कर उसका शव लांजी बालाघाट मुख्य मार्ग पर ग्राम दुल्हापुर स्थित हनुमान मंदिर के पीछे एक कृषक खेत में फेंक दी थी। अज्ञात नग्न शव पाये जाने पर लांजी पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध धारा 302,201 भादवि के तहत मामला कायम कर विवेचना प्रारंभ की । पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक तिवारी के मार्गदर्शन तथा एसडीओपी श्री दुर्गेश आर्मो के निर्देशन में जांच दल का गठन कर तपतिश की। उक्त टीम द्वारा अज्ञात शव का पहचान सतिष शेंडे पिता सुखराम शेंडे निवासी ग्राम बिनोरा के रूप में की गई। मृतक की बहन व जीजा ने कपडे व चाबी के लाकेट से शव का पहचाना।

विवेचना के दौरान पाये गये घटना स्थल के साक्ष्य मुखबिरों से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस ने इस हत्या के सिलसिले में आज 2 जनवरी 2022 को 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिन्होंने अपना अपराध स्वीकार किया है। गिरफ्तार किये गये आरोपियों में रत्नदीप चौरे पिता राजकुमार चौरे जाति महार 26 वर्ष, राजू पिता सुखदेव चौरे जाति महार उम्र 52 साल निवासी ग्राम बिनोरा थाना किरनापुर, रोहित चौरे पिता राजकुमार चौरे जाति महार उम्र 20 साल, अतुल नगपुरे पिता प्रेमलाल नगपुरे जाति लोधी उम्र 20 साल निवासी ग्राम बिनोरा थाना किरनापुर, भारत भलावी पिता बलराम भलावी जाति गोंड उम्र 24 साल निवासी ग्राम पोस्ट कान्हीवाड़ा जिला सिवनी, सोहेल शेख पिता जाहिर शेख उम्र 18 साल वार्ड नं.18 थाना लांजी बालाघाट को गिरफ्तार किया है।

लांजी एसडीओपी पुलिस श्री दुर्गेश आर्मों ने बताया कि मृतक आरटीआई के माध्यम से जानकारी प्राप्त करता था । आरटीआई के माध्यम से जानकारी लेकर सतीश शेंडे द्वारा आरोपी रत्नदीप चौरे, राजू पिता सुखदेव चौरे, रोहित चौरे, के परिवार को जारी किया गया बीपीएल का राशन कार्ड निरस्त करवा दिया था तथा उनके परिवार की अध्ययनरत छात्राओं को मिल रही छात्रवृत्ति रुकवा दी थी जिसके कारण आरोपीगण सतीश शेंडे से नाराज थे । इस बात को लेकर आरोपियों ने षडयंत्र रचकर सतीश शेंडे का बस में बिठाकर अपने साथ लाये और घातक हथियारों से मारपीट कर हत्या कर दी और उसके शव को दूर ले जाकर फेंक दिया।