आरोपी ने करीब एक हजार लोगों से लगभग 7 करोड़ रूपये जमा करा लिये, जमानत निरस्त

महावीर अग्रवाल
मदंसौर १० सितम्बर ;अभी तक;  जिला एवं सत्र न्यायधीश महोदय श्री विजय कुमार पाण्डेय सा0 मंदसौर के द्वारा आरोपी दिवेश कुमार बजाज पिता रमेशचंद्र बजाज उम्र 52 साल नि0द्वितीय तल हरकिशन नगर पश्चिमी विहार नई दिल्ली द्वारा प्रस्तुत जमानत आवेदन निरस्त कर दिया।
              मीडिया सेल प्रभारी नितेश कृष्णन ने बताया कि मामला इस प्रकार है कि आरोपी ने अपने सह आरोपियों के साथ मिलकर दिनांक 14.05.2009 से दिनांक 10.09.2016 तक की अवधि में जी.एन. डेयरी, जी.एन. गोल्ड एवं जी.एन. ग्रुप नामक बैंकिंग कंपनी बनाकर उसके जरिए फरियादी राजेश भाटी एवं लगभग एक हजार अन्य लागों को साढ़े 5 वर्ष में राशि दुगुना कर देने का आश्वासन दिया गया और उनसे कपटपूर्वक बेईमानी कर लगभग सात करोड़ रूपये जमा करा लिये समयावधि पूर्ण होने पर भी उसका भुगतान नही किया। जिस पर से फरियादी राजेश भाटी पक्ष ने आरोपी दिवेश कुमार बजाज के विरूद्ध थाना शहर कोतवाली पर अपराध अपराध क्र. 604/2016 व धारा 420 एवं 406 भादवि तथा म0प्र0 निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधि0 2000 की धारा-6 के अंतर्गत पंजीबद्ध किया गया।
                 बाद प्रकरण में आरोपी दिवेश कुमार बजाज पिता रमेशचंद्र बजाज को गिरफतार किया गया। प्रकरण में अनुसंधान पूर्ण कर आरोपी को माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया था जिसकी सुनवाई आज नियत थी।
                    आरोपी दिवेश कुमार बजाज पिता रमेशचंद्र बजाज उम्र 52 साल नि0द्वितीय तल हरकिशन नगर पश्चिमी विहार नई दिल्ली के द्वारा माननीय जिला एवं सत्र न्यायधीश महोदय श्री विजय कुमार पाण्डेय सा0 मंदसौर के समक्ष जमानत याचिका प्रस्तुत की गई जिस पर से लोक अभियोजक कांतिलाल राठौर द्वारा जमानत का घोर विरोध करते हुए आपत्ति आपत्ति दर्ज कराई जिस पर से माननीय न्यायालय द्वारा आरोपी दिवेश कुमार बजाज की जमानत याचिका निरस्त की गई।

 

 

 

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *