आॅल इज वेल मंें बंट रहा है कोराना, 24 घटें में 3 मरे दो पाजिटिव व 1 संदिग्ध, वार्ड हाउस फुल:

मयंक शर्मा
खंडवा 7 सितम्बर ;अभी तक;  जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज  की निंरतर बढती संख्या से आम जन अपने भविष्य को लेकर असुरक्षा के पाले में मानकर गहन रूप से चिंतित है।जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ डीएस चैहान ने कहा कि सित के  पहले सप्ताह में 79 नए संक्रमित मरीज दर्ज हुये है वहीं जिला अस्पताल के कोविड केयर सेंटर में 24 घंटे में दो वहीं सप्ताह भर मै  3 संक्रमितो ने दम तोड दिये जाने से इस रोग से जिले में मृतकों का आंकडा 25 पर खडी हो गया है। जिला चिकिसालय के कोविड केयर और फीवर क्लीनिक प्रभारी डॉ. सुनील बजोलिया ने बताया कि कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। आइसीयू में अब जगह नहीं है। डीसीएच और सारी वार्ड भी भर गए हैं।
बेकाबू होती महामारी को लेकर प्रशासन ने फिर चेताया है कि  बगैर मास्क लगाकर घर से निकलने और शारीरिक दूरी के उल्लघंन पर सख्ती से कार्रवाई की जाएगी।

कलेक्टर अनय द्विवेदी ने मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा में कहा कि प्रतिदिन 10-15 पॉजिटिव मरीज सामने आ रहे हैं। संक्रमण से बचने के लिए जिला प्रशासन के प्रयासों के साथ नागरिकों को भी अपने स्तर पर सावधानी बरतना होगी। मांधाता सीट पर प्रस्तावित विस चुनाव को लेकर उन्होने कहा कि राजनीतिक सभाओं में शारीरिक दूरी के प्रावधानों का पालन कराने के लिए राजनीतिक दलों की बैठक लेकर समझाइश दी जाएगी। उन्होने कहा कि उच्च न्यायालय के निर्देशों के अनुसार स्कूलों को केवल ट्यूशन फीस ही लेना है।

इंदौर संभागायुक्त डॉ. पवन शर्मा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा आयोजित कलेक्टर्स कॉन्फ्रेंस में कहा कि अब लॉकडाउन का समय समाप्त हो गया है। सामाजिक मेल-जोल और आवागमन बढ़ गया है। ऐसी परिस्थिति में वायरस के प्रसार की संभावना भी अधिक हो गई है। हम इसे शारीरिक दूरी के अनुशासन और मास्क के प्रभावी उपयोग से ही रोक सकेंगे।

जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ डीएस चैहान ने कहा कि अनलॉक-थ्री और फोर में अधिकांश सेवाएं और बाजार खुलने से संक्रमण का दायरा  तेजी से पैर पसार रहा है। इसे नियंत्रित करने के लिए प्रशासन अपने स्तर पर हरसंभव प्रयास कर रहा ह। उन्होने बताया कि कोरोना संदिग्ध के रूप में तीन सितंबर से सारी वार्ड में भर्ती 66 वर्षीय सरला पालीवाल निवासी आदर्श नगर ने शनिवार रात दम तोड़ दिया है। उनकीसैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उन्हें डीसीएच वार्ड में शिफ्ट करने की तैयारी थी। रविवार को ही 62 वर्षीय सुशीला लोधे निवासी ग्राम गुड़ी की कोविड आइसीयू में मौत हो गई। उनके दो स्वजन भी पॉजिटिव आने से भर्ती हैं।  संदिग्ध मरीजों में सारी वार्ड में शनिवार को भर्ती 49 वर्षीय कैलाश पटेल निवासी अंजटी देवला की मौत हो गई। उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसलिए मौत को पॉजिटिव मरीजों की सूची में दर्ज नहीं किया गया है।

0 निजी अस्पताल प्रशासन ने किया सील

नगर के सिंधी कॉलोनी स्थित हिंदूजा हॉस्पिटल से रैफर मरीज लगातार पॉजिटिव निकलने और समय पर जानकारी नहीं देने पर प्रशासन ने रविवार को बडी कार्रवाई की है। जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. डीएस चैहान की मौजूदगी में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने यहां भर्ती सभी मरीजों, चिकित्सक और स्टाफ के सैंपल लिए हैं। संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट देने में कोताही पर अस्पताल सील करने की कार्रवाई की गई है। यहां बड़ी संख्या में अन्य मरीज भर्ती होने से इन्हें शिफ्ट करने के लिए शाम तक की मोहलत नर्सिंग होम संचालक को दी गई थी।

अस्पताल संचालक डॉ. दिलीप हिंदूजा ने बताया कि शासन-प्रशासन द्वारा कोविड-19 के संबंध में जारी निर्देशों का पालन किया जा रहा है। संदिग्ध मरीजों के लिए हमारे यहां अलग वार्ड है। वहां जो भर्ती होता है उसकी जानकारी प्रशासन को दे रहे हैं। कलेक्टर के समक्ष पक्ष रखेंगे। साथ ही खंडवा नर्सिंग होम एसोसिएशन का अध्यक्ष होने के नाते शहर के निजी अस्पतालों में बेड की क्षमता के अनुसार 17 फीसद बेड पर कोविड के संदिग्ध मरीज के इलाज की अनुमति देने की मांग की जाएगी। इससे मरीज बड़े शहरों में महंगे इलाज से बच सकेंगे।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *