इलाहाबाद विश्वविद्यालय के लिए पंडित दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर पीठ

प्रयागराज, आठ नवंबर ; केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने सोमवार को कहा कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने अंत्योदय की कल्पना करने वाले पंडित दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय में एक पीठ नामित किया है।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में उन्होंने कहा, ‘‘आज जब प्रधानमंत्री को पता चला कि मैं इलाहाबाद विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल होने जा रहा हूं तो उन्होंने गुरुजनों का आशीर्वाद लेने, नौजवानों को शुभेक्षा देने और पंडित दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर पीठ (के स्थापना की) की घोषणा करने को कहा।’’

प्रधान ने कहा कि यह पीठ शुरुआती पांच वर्षों के लिए होगा और इसे आगे भी बढ़ाया जा सकेगा। यह गरीबों के कल्याण के बारे में चिंतन और शोध करेगा।

दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि प्रधान ने कहा कि उम्मीद है कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय स्वयं को नई शिक्षा नीति के मुताबिक ढालेगा और विद्यार्थियों को उसके अनुरूप प्रशिक्षित करेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘इलाहाबाद विश्वविद्यालय महज एक विश्वविद्यालय नहीं है, बल्कि देश में नेतृत्व तैयार करने वाला एक प्रयोगशाला है। राजनीति, प्रशासन, साहित्य, कला, संस्कृति, इतिहास, विज्ञान इन सारी विधाओं में इसने भारत और दुनिया को नेतृत्व प्रदान किया है।’’

मंत्री ने कहा कि इक्कीसवीं सदी में भारत एक वैश्विक शक्ति बन रहा है और नई शिक्षा नीति के मुताबिक विद्यार्थियों को तैयार करने में इस विश्वविद्यालय की अहम भूमिका रहेगी। उत्तर प्रदेश एक आत्मनिर्भर और संपन्न प्रदेश बनने के रास्ते पर है। उत्तर प्रदेश में परिवर्तन को लेकर सारे अनुसंधान इस चेयर में हो, ऐसी हमारी इच्छा है।

मंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में इस विश्वविद्यालय में रिक्त पदों को भरने की त्वरित कार्रवाई शुरू की गई है। असिस्टेंट प्रोफेसर पद के आवेदन के लिए पीएचडी की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है।

दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कुलाधिपति आशीष कुमार चौहान ने कहा, ‘‘हमारा विश्वविद्यालय आज नारी शक्ति का पर्याय बन गया है। आज 260 मेडल दिए गए जिसमें से 150 से अधिक मेडल छात्राओं ने प्राप्त किए। यही छात्राएं आगे चलकर भारत का नेतृत्व करेंगी।’’

चौहान ने कहा कि आज यहां से उपाधि प्राप्त कर बाहर की दुनिया में जा रहे विद्यार्थियों और शोधार्थियों के सामने बहुत सी चुनौतियां आएंगी, लेकिन उम्मीद है कि पुराने छात्र इनका साथ देंगे।

दीक्षांत समारोह से पूर्व इलाहाबाद विश्वविद्यालय के चंद्रशेखर आजाद अंतरराष्ट्रीय छात्रावास का उद्घाटन कुलाधिपति आशीष कुमार चौहान और गार्गी महिला छात्रावास का उद्घाटन कुलपति प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने किया।

दीक्षांत समारोह में प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, नंद गोपाल गुप्ता, इलाहाबाद की सांसद रीता बहुगुणा जोशी, फूलपुर की सांसद केशरी देवी पटेल और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।