ई-केवायसी अपडेट नहीं है तो रुकेगा भुगतान, धान उपार्जन प्रक्रिया मेें उलटफेर…किसान चिंतित

10:45 pm or December 27, 2021

मंडला संवाददाता

मंडला २७ दिसंबर ;अभी तक;  धान उपार्जन जारी है लेकिन इस वर्ष मानो धान उपार्जन पर किसी की नजर लग गई है। तभी धान उपार्जन प्रक्रिया मेें हिस्सा लेने वाले अधिकतर किसान परेशान हो रहे हैं। पहले अपने आधार और फोन लिंक्ड  प्रक्रिया को अपडेट कराने की शर्त को पूरा करने के लिए  किसानों को हफ्तों तक उपार्जन केंद्र और आधार केंद्रों के चक्कर लगाने पड़े। इस प्रक्रिया के लिए किसानों को दो से तीन हफ्ते तक परेशान होना पड़ा। अब जबकि अधिकांश किसानों के आधार लिंक्ड मोबाइल फोन अपडेट हो गए हैं तो भुगतान संबंधी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

दरअसल शासन के नियमानुसार, धान उपार्जन प्रक्रिया के तहत किसानों के खाते में भुगतान की राशि तभी जमा की जाएगी जब किसान की ई-केवायसी अपडेट होगी। शासन के जारी निर्देशों के अनुसार, पंजीकृत किसान के आधार में नंबर जो मोबाइल नंबर है। उसी नंबर पर किसान को उपार्जन संबंधी एसएमएस आएगा। इस मोबाइल नंबर से ही संबंधित बैंक एकाउंट भी लिंक्ड होना चाहिए। तभी संबंधित किसान के बैंक खाते में भी धान उपार्जन के भुगतान की राशि जमा की जाएगी।

बिना अपडेशन मैसेज आया

विभागीय जानकारी के अनुसार, जिन किसानों ने अपने आधार लिंक्ड मोबाइल को अपडेट करा लिया है। उन्हें उपार्जन के लिए एसएमएस भेजा जा चुका है और उन किसानों में से कुछ ने धान को उपार्जन केंद्र में विक्रय भी कर दिया है। लेकिन इनमें से कई विक्रेता किसान ऐसे भी हैं जिनकी ई-केवायसी अपडेशन होना बाकी है। जब तक उनकी ई-केवायसी अपडेट नहीं होगी। भुगतान राशि बैंक खाते में नहीं आएगी। यही कारण है कि जिले भर में लगभग 1700 किसानों के बैंक खाते में भुगतान की राशि आना अभी शेष है। यही कारण है कि किसान बेहद चिंतित हैं।