उत्‍कृष्‍ट कार्य करने के लिए रतलाम मंडल के दो कर्मचारी महाप्रबंधक पश्‍चिम रेलवे द्वारा ‘मैन ऑफ दी मंथ’  के रूप में पुरस्‍कृत

महावीर अग्रवाल
मंदसौर १६ जून ;अभी तक;  पश्चिम रेलवे रतलाम मंडल पर उत्‍कृष्‍ट कार्य कारने वाले दो कर्मचारियों  सहित महाप्रबंधक पश्चिम रेलवे श्री आलोक कंसल द्वारा पश्चिम रेलवे के अन्‍य मंडलों के कर्मचारियों को भी वर्चुअल माध्‍यम से ‘मैन ऑफ दी मंथ’ पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया ।
                    इसकी जानकारी देते हुए मंडल रेल प्रवक्‍ता ने बताया कि महाप्रबंधक पश्‍चिम रेलवे श्री आलोक कंसल द्वारा पश्चिम रेलवे के सभी मंडल पर उत्‍कृष्‍ट कार्य करने वाले कर्मचारियों को ‘मैन ऑफ दी मंथ’ पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया जाता है। इसी कड़ी में मार्च- 2021 में उत्‍कृष्‍ट कार्य करने वाले रतलाम मंडल के श्री बिमल कुमार-लोको पायलट शंटर/रतलाम एवं श्री राकेश ठाकुर-स्‍टेशन अधीक्षक/दाहोद को महाप्रबंधक पश्चिम रेलवे द्वारा वर्चुअल माध्‍यम से पुरस्‍कृत किया गया। उक्‍त दोनों कर्मचारियों को मंडल रेल प्रबंधक श्री विनीत गुप्‍ता द्वारा प्रत्‍यक्ष रुप से प्रशस्‍ति पत्र एवं नकद राशि प्रदान किया गया।
                   13 मार्च, 2021 को श्री बिमल कुमार द्वारा रतलाम डाउन यार्ड में मल्टिपल लोको को स्‍टार्ट करने से पहले लोको चेक करने पर लोको नं. 23584  की व्‍हील संख्‍या 01 एवं 03 के बीच चार इंच का बोगी क्रेक पाया जिसकी सूचना कंट्रोल ऑफिस में दी तथा क्रेक की पुष्टि होने पर लोको को कार्य से अलग किया गया। इसप्रकार संबंधित कर्मचारी की कार्य के प्रति जागरुकता एवं तत्‍परता के कारण एक संभावित दुर्घटना को समय पूर्व टाला जा सका।
                इसी प्रकार  15 मार्च, 2021 को श्री राकेश ठाकुर- स्‍टेशन अधीक्षक/दाहोद डयूटी के दौरान डाउन की ओर जा रही एनईबॉक्‍स के स्‍टेशन से रनिंग थ्रू पास होते समय उक्‍त गाड़ी के ब्रेकवान से फ्लैट टायर की आवाज सुनाई दी। इन्‍होंने बिना समय गंवाए ‘रोको और जांच करो’ का संदेश देकर गाड़ी को दाहोद स्‍टेशन पर रुकवाया तथा कैरिज एंड वैगन विभाग के कर्मचारियों द्वारा जांच करवाने पर 70 एमएम का फ्लैट टायर पाया गया जो गाड़ी के संचालन के लिए असुरक्षित था। इस प्रकार कर्मचारी के सजगता एवं सतर्कता के कारण एक संभावित दुर्घटना को रोका गया।
                मंडल रेल प्रबंधक श्री गुप्‍ता ने  पुरस्कार प्राप्त करने वाले दोनों रेल कर्मियों को बधाई देते हुए उन्हे संरक्षा से जुड़े सभी नियमों का पूरी तरह पालन करने तथा अपनी सूझबूझ से किसी भी प्रकार का रेल हादसा रोकने के लिए जरूरी मार्गदर्शन भी दिया।