एक डिस्ट्रीक एक प्रोडक्ट में मिर्च का चयन

आशुतोष पुरोहित
खरगोन 07 सितंबर ;अभी तक;  सोमवार को स्वामी विवेकानंद सभागृह में आयोजित हुई समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक में कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने समस्त जिलाधिकारियों से कहा कि पूरे प्रदेशभर के जिलों से एक डिस्ट्रीक एक प्रोडक्ट का चयन राज्य सरकार के महत्वपूर्ण कार्यों में से एक है। इसी के मद्देनजर जिले से भी एक प्रोडक्ट का चयन होना है। इस बात पर उद्यानिकी उप संचालक केके गिरवाल ने कहा कि इस योजनांतर्गत जिले से मिर्च का चयन किया जा चुका है। इसके लिए गठित चयन समिति ने मिर्च को प्राथमिकता देते हुए इस फसल का चयन किया है। उप संचालक गिरवाल ने बताया कि फसल का चयन होने के उपरांत भोपाल स्तर से एक कंसलटेंट की नियुक्ति होगी, जो जिले में प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित करने की दिशा में समिति व अन्य अधिकारियों के साथ विजिट करेंगे। इसके बाद इच्छुक नागरिकों को प्रोसेसिंग यूनिट खोलने की मंजूरी दी जाएगी। बैठक में अपर कलेक्टर श्री एमएल कनेल सहित सभी अनुभागों के एसडीएम सहित अन्य जिलाधिकारी उपस्थित रहें।
============
समिति में यह है सदस्य
============
प्रधानमंत्री सुक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना के अंतर्गत माईक्रो फूड प्रोसेसिंग उद्यमियों को सुविधा देने के लिए जिला स्तरीय समिति का गठन गत 17 अगस्त को किया गया है। इस समिति के अध्यक्ष कलेक्टर सहित अन्य 10 अधिकारी सदस्य शामिल है। इनमें कृषि, उद्यानिकी अधिकारी, संबंधित क्षेत्र का सरपंच, विकासखंड अधिकारी, लीड बैंक मैनेजर, विकास फार्मर प्रोड्यूशर कंपनी बिस्टान, नाबार्ड के प्रतिनिधि, जिले के एसआरएलएम के प्रतिनिधि एवं कलेक्टर द्वारा नामित संबंधित अनुभाग का एसडीएम सदस्य होंगे।
============
सभी अधिकारी एक माह का प्लॉन तय करके रखे और करें
============
बैठक में कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा ने समस्त अधिकारियों से कहा कि सभी अधिकारी अपने-अपने विभाग व कार्य से जुड़े महत्वपूर्ण बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए एक माह का पूरा प्लॉन तय कर के रखें। ऐसा ही अपने अधीनस्थ अधिकारियों को भी निर्देशित करें। समस्त अधिकारी खुद से ही अपने विभागीय लक्ष्य तय कर प्राथमिकता देते हुए कार्य करें। जैसे- शासकीय उचित मूल्य की दुकानों का निरीक्षण, स्कूल, छात्रावास, आंगनवाड़ी व अन्य योजनाओं से संबंधित कार्यों को लेकर योजना बनाई जा सकती है।
============
इन बिंदुओं पर भी हुई चर्चा
============
प्रति सप्ताह सोमवार को आयोजित होने वाली समीक्षा बैठक में खाद्य विभाग की पात्रता पर्ची योजना तथा आधार सीडिंग की समीक्षा की गई। इसके अंतर्गत कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा ने शहरी विकास प्राधिकरण की परियोजना अधिकारी व सीएमओ श्रीमती प्रियंका पटेल को निर्देश दिए कि समस्त नगर निकायों में पात्र व अपात्र का चिन्हांकन कर पोर्टल पर इंट्री दर्ज करें। साथ ही कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा ने समस्त एसडीएम और कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारियों से कहा कि प्रोक्यूरमेंट की जांच करने के निर्देश दिए। वहीं 9 और 12 सितंबर को शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के लिए पीएम पथ विक्रेता के अंतर्गत आयोजन होना है। इसके लिए सभी एसडीएम बैंकर्स के साथ ज्यादा से ज्यादा नागरिकों को लाभ देने की दिशा में कार्य करें। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जागरूकता अभियान और सैंपल की जांच का लक्ष्य बढ़ाने के निर्देश सीएमएचओ और एसडीएम को दिए।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *