एक लाईन परिचारक की देखरेख मे करीब दो सौ कृषि पम्प अवैध रूप से चलते पाए गए !  

पुष्पेंद्र सिंह
टीकमगढ़ 1 नवम्बर ‘; अभी तक ; ‘मध्यपूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के मोहनगढ़ इलाके के शिवराजपुर मुख्यालय मे पदस्थ एक लाईन परिचारक बेताल कुशवाहा की देखरेख मे करीब दोसौ कृषि पम्प अवैध रूप से चलते पाए गए !
विद्युत मण्डल के कार्यपालन अभियंता अमित कुमार ने बताया कि लाईन मेन कुशवाहा की वह गड़वड़ी, गत 30अक्टूबर को उनके उस क्षेत्र मे भृमण के दौरान सामने आयी, उन्होंने बताया कि शिवराजपुर के तमाम गावों मे करीब डेढ़  से दो सौ कृषि पम्प चलते हुए देखे गए, इसके अलावा 1नंबर नंदनपुर मे 25के व्ही ए क्षमता का अस्थायी वितरण परिणामित्र (ट्रांसफार्मर )स्थापित पाया गया था जिसमें 7नंबर डोरियां सम्बद्ध कर कृषि पम्पों को अवैधानिक रूप से चलाया जा  रहा था, कार्यपालन यंत्री कुमार ने बताया कि वह ट्रांसफार्मर राजू यादव के नाम पर स्थापित किया गया था !
अपने एक अधीनस्थ अरविन्द खरे के जरिये, लाईन मेन कुशवाहा से  उसके उक्त क्षेत्र मे अवैध कनेक्शन से सिचाई की जानकारी फोन से लेने पर उसने, उन्हें गुमराह करते हुए बताया कि उसके इलाके मे इस तरह कोई अवैध कनेक्शन नहीं है और न  ही अवैधानिक तौर पर किसी  के द्वारा कृषि पम्प चलाये जा  रहे हैं !
लेकिन उन्होंने जब बेताल कुशवाहा को सच्चाई से अवगत कराते हुए जानना चाहा कि उसके इलाके के तमाम गांव मे जो कृषि पम्प चल रहे है उनमें कितने किसानों द्वारा  अस्थायी विद्युत कनेक्शन लिए गए हैं , इसका उसने कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दिया !उन्होंने बताया
लाइनमैन कुशवाहा की उक्त गड़वड़ी के लिए विभाग ने उसे ‘कारण बताओ नोटिस ‘देकर 24घंटे के भीतर अपना जवाब देने को कहा है, इस बीच नोटिस जारी होने से बौखलाए कुशवाहा  ने  उलटे, अभियंता अमित कुमार पर ही रूपये मांगने का आरोप लगाते हुए एक पत्र आज  जिला प्रशासन को प्रेषित किया  है
इस सम्बन्ध मे मामले की जानकारी लेने के लिए किसी अधिकारी से संपर्क  नहीं  हो  सका, यद्यपि विद्युत विभाग के कुछ अन्य अधिकारिओं ने भी इस बात की पुष्टि की है कि नोटिस जारी होने के बाद खुद के वचाव और कार्यपालन यंत्री कुमार पर दबाव बनाने के  लिए लाईन परिचारक कुशवाहा इस तरह के हडकंडे अपना रहा है !