एशिया महादीप के सबसे व्यवस्थित टाइगर रिजर्व कान्हा के जंगल में पर्यटकों के लिए सफारी आज से शुरू, पहले दिन ही दिखे जंगल के राजा

8:44 pm or October 1, 2020
शिया महादीप के सबसे व्यवस्थित टाइगर रिजर्व कान्हा के जंगल में पर्यटकों के लिए सफारी आज से शुरू पहले दिन ही दिखे जंगल के राजा
मण्डला से सलिल राय
मंडला एक अक्टूबर ;अभी तक; बाघो की प्राकृतिक अवस्था मे जीवन बसर करते कान्हा टाइगर रिजर्व की अपनी एक अलग पहचान कान्हा के सघन वन आँगन में हैं रॉयल बेंगाल नस्ल के टाइगर दर्शन देखने की पहली अभिलाषा होती हैं। वही गोर तलब किया जाये तो यहाँ प्रकृति की बेपनाह हरीतिमा अपने आप में मोहपाश में बांधने में सफल है। कोविड 19 और मानसून के चलते पार्क पर्यटकों के लिए बन्द थे जो आज एक अक्टूबर से खुल गये हैं आज की स्थिति के बारे में एक रिपोर्ट फील्ड डायरेक्टर से जानी गई वह जानिए।
मध्यप्रदेश के वन जन बाहुल्य मण्डला जिले की सरज़मी में एशिया महादीप के सबसे व्यवस्थित कान्हा टाइगर रिजर्व देशी विदेशी पर्यटकों के लिये आज एक अक्टूबर से पार्क के जंगल में प्रवेश मिलना शुरू हो गया हैं कान्हा टाइगर रिजर्व के फ़ील्ड डायरेक्टर एल कृष्ण मूर्ति से देर शाम दूरभाष से ली जानकारी के मुताबिक कान्हा इस बर्ष कोविड 19 के साथ मानसून काल मे कान्हा पार्क सैलानियों के भृमण के लिए बन्द किए जाने के बाद आज गुरुवार से केंद्र और राज्य सरकार द्वारा कोविड 19 के दिशा निर्देशों का परिपालन करते हुये कान्हा पार्क के प्रवेश द्वार खोल दिये गये हैं। श्री कृष्ण मूर्ति ने बताया कि आज मुक्की ज़ोन में घूम रहे सैलानियों को टाइगर दिखाई दिया हैं।
फील्ड डायरेक्टर ने बताया कि इस समय कान्हा के वन आँगन में 112 बाघ परिवार की संख्या मौजूद है। यहाँ जान ले कि कान्हा के चार ज़ोन हैं इनमें से आज दो ज़ोन मुक्की और किसली में पर्यटकों के लिए खोल दिये गये इनमें से जो पर्यटक पार्क घूमने गये उन्हें कोरोना के बचाब उपाय का पालन कराया गया हैं।
आज से ही कान्हा टायगर रिजर्व में सात दिनी वन प्राणी सप्ताह भी शुरू हो गया हैं इस दौरान अनेक कार्यक्रम शुरू हो गये हैं।
कान्हा पार्क प्रबंधन द्वारा यह भी जानकारी दी गई दिनांक 01 अक्टूबर, 2020 से कान्हा टायगर रिजर्व में पर्यटन गतिविधियाँ प्रारंभ कर दी गयी है। कोर जोन के अंतर्गत किसली एवं मुक्की पर्यटन जोन एवं बफर जोन के अंतर्गत खटिया, खापा एवं सिझौरा पर्यटन जोन में पर्यटकों को प्रवेश दिया जा रहा है। पर्यटन प्रारंभ के पहले दिन में प्रातः की सफारी में खटिया प्रवेश द्वार से 17 वाहन, 81 पर्यटक एवं मुक्की प्रवेश द्वार से 21 वाहन, 105 पर्यटकों ने प्रवेश किया है।
कोविड-19 संक्रमण के अंतर्गत भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए पर्यटकों को पर्यटन हेतु प्रवेश दिया जा रहा है। एकल परमिट में एक वाहन 6 पर्यटकों के स्थान पर 4 पर्यटक, केंटर वाहन में 18 पर्यटकों के स्थान पर 12 पर्यटक एवं पंजीकृत पर्यटन वाहनों में यदि एक ही परिवार के सदस्य हो तो 6 की संख्या तक बैठ सकेंगे। इसके अतिरिक्त समस्त पर्यटकों, वाहन चालकों एवं गाइडों को अनिवार्य रूप से मास्क लगाना तथा सामाजिक दूरी का पालन करना अनिवार्य होगा। पार्क प्रबंधन द्वारा समस्त प्रवेश द्वारों पर सेनेटाईजर एवं थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था की गयी है।
दिनांक 15 अक्टूबर, 2020 से उपरोक्त जोन के अतिरिक्त कोर जोन के अंतर्गत कान्हा एवं सरही पर्यटन जोन तथा फेन अभयारण्य में भी पर्यटन प्रारंभ हो जाएगा।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *