एसटीएफ का छापा:दूध में घातक केमिकल मिलाने वाला गिरफ्तार, 21 लाख का केमिकल जप्त

देवेश शर्मा
मुरैना 13 नबम्बर ;अभी तक; ग्वालियर से एसटीएफ ने  गुरुवार की शाम अम्बाह कस्वे के तीन गोदामों पर छापा मारकर 21 लाख रुपये के घातक रसायन जप्त किये हैं। जप्त कैमिकल की बिक्री सिंथेटिक दूध बनाने के लिए की जा रही थी। एसटीएफ ने जिस प्रतिष्ठान पर छापा मारकर कार्यवाही की है उसके मालिक सुनील उर्फ सोनू अग्रवाल के खिलाफ 19 जुलाई 2019 को भी ऐसे ही मामले में रासुका की कार्यवाही की गई थी। वह तीन माह की जेल काटकर बापिस आया था।

                  एसटीएफ के डीएसपी  रोशनी ठाकुर व निरीक्षक चेतन सिंह की अगुआई में 10 अधिकारी-कर्मचारियों की टीम गुरूवार शाम सवा 6 बजे के करीब अंबाह में पहुंची। एसटीएफ टीम के साथ मुरैना फूड सेफ्टी विभाग के कर्मचारी रेखा सोनी व पुलिस बल भी मौजूद था।फूड सेफ्टी ऑफिसर रेखा सोनी के अनुसार टीम ने सबसे पहले जग्गा चौराहा पर दो अलग-अलग जगह बने गोदामों में छापा मारा जहां कास्टिक पाउडर, हाइड्रोजन परऑक्साइट, माल्टो डेस्टरिन पाउडर, लिक्विड शेंपू, स्किम्ड मिल्क पाउडर, पारबीड्रॉल जैसे कैमिकल का जखीरा मिला इसके बाद गल्ला मंडी के पास बने एक गोदाम की शटर खुलवाई तो वहां भी यहीं कैमिकल मिले। उन्होंने बताया कि यह गोदाम अंबाह निवासी सोनू अग्रवाल के बताए गए है, पूछताछ में सामने आया है कि सोनू शर्मा सिंथेटिक दूध बनाने वाले इन खतरनाक कैमिकलों को जिनमें कास्टिक सोड़ा तक है इसे मुरैना ही नहीं ग्वालियर, भिंड व श्योपर तक के डेयरी संचालकों को सप्लाई करता है। कैमिकलों की जब्ती व सेंपलिंग के बाद सोनू अग्रवाल के खिलाफ आगे की कार्रवाई होगी।
                रेखा सोनी के अनुसार गोदामों से जप्त किये माल में
1000 से ज्यादा बोरे माल्टो डेस्टरिन पाउडर ,
आरएम कैमिकल के 20 ड्रम जिनमें 4000 लीटर आरएम कैमिकल भरा हुआ था।
लिक्विड शेंपू की 40 केन और एक-एक किलो के डिब्बों वाले 4 कार्टन।
हाइड्रोजन परऑक्साइट 30-30 लीटर की 42 केन।
स्किम्ड मिल्क पाउडर 25-25 किलो के 40 बोरे।
कास्टिक पाउडर 40-40 किलो के 46 बैग।
पारबीड्रॉल के 9 ड्रम, जिनमें 1800 लीटर कैमिकल था।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *