ऑर्गेनिक दूध भविष्य की डिमांड, एससी एसटी युवाओं के लिए बड़ा अवसर, बिजनेस लीडरशिप डेवलपमेंट प्रोग्राम में बोले मरकाम

10:04 pm or May 1, 2022

प्रहलाद कछवाहा

मंडला एक मई ;अभी तक;  ऑगनिक उत्पादों की मांग लगातार बढ़ रही है। आने वाले समय में ऑर्गेनिक दूध की मांग होगी। उद्यमिता के ऐसे अवसरों का लाभ लेने के लिए एससी-एसटी युवाओं को तैयार रहना चाहिए। डिक्की आयोजित दो दिवसीय बिजनेस लीडरशिप डेवलपमेंट में मुख्यमंत्री के उप सचिव लक्ष्मण सिंह मरकाम ने अपने उद्बोधन में ये बात कही। उन्होंने दलित-आदिवासी समाज के पारंपरिक रहन सहन, खान-पान, कला, संस्कृति और ज्ञान को संरक्षित करते हुए उद्यमिता के अवसरों का लाभ लेने की बात कही।

दो दिवसीय कार्यक्रम के समापन पर डिक्की ने इंडस्ट्री डेवलपमेंट रोजडमैप जारी किया। इसके साथ ही एससी, एसटी उद्यमियों के बनाऐ ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के मॉडल को प्रस्तुत किया। अध्यक्ष डॉ अनिल सिरवैया ने जिलों में आगामी दिनों में आयोजित की जाने वाली गतिविधियों की जानकारी भी दी।

उद्घाटन सत्र के बिजनेस लीडरशिप डेवलपमेंट में डिक्की के संस्थापक अध्यक्ष मुख्यमंत्री मिलिंद काम्बले और राष्ट्रीय अध्यक्ष पद्मश्री रविकुमार नारा ने प्रतिभागियों को लीडरशिप के गुर सिखाए। कार्यक्रम के समापन के अवसर पर पशुपालन, खाद्य प्रसंस्करण और उद्यानिकी विभाग के अपर मुख्य सचिव जेएन कांसोटिया मुख्य रूप से उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि युवाओं को सफल उद्यमी बनने के लिए खुद को हर दम मोटीवेट करते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि शासकीय योजनाओं का लाभ लेने के लिए सामाजिक जागरूकता भी जरूरी है।

उन्होंने कहा सभी युवाओं को नियमित रूप से इनक्यूबेशन सेंटर्स विजिट करें। दूसरे दिन के उद्घाटन सत्र में भारतीय स्टेट बैंक के चीफ जनरल मैनेजर विनोद कुमार मिश्रा ने एसबीआई की वित्तीय सेवाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा एसबीआई और डिकी के मध्य हुए एमओयू को मप्र में सफलता पूर्वक क्रियान्वयन किया जाएगा। फूड प्रोसेसिंग विभाग के आयुक्त डॉ ई. रमेश कुमार ने सब्जी, फल-फूल, मसाला, औषधीय फसलों के लिए विशेष योजना और महत्व को समझाया गया। उन्होंने कहा कि वैल्यू एडिशन, रॉ मटेरियल की उपलब्धता को ध्यान रखते हुए कार्य करना बेहद जरूरी है।