ओंकारेश्वर पहुंचे श्रद्वालुओं को पुलिस ने बैंरग लोटाया।

मयंक शर्मा

खंडवा,10 जून,अभीतक । गुरूवार  को सूर्य ग्रहण के साथ शनि जयंति ओर वट सावित्री व डेडगली अमावस्या के महत्व पर पवित्र सरोवर में स्नान की लालसा में अनंालाक के बाद शनिवार को समूचे  निमाड़ मालवा के विभिन्न जिलो से श्रद्वालु नर्मदा में स्नान करने के साथ ओंकारेश्वर व ममलेश्वर ज्योर्तिलिंग के दर्शन व पूजन के लिये पहुंचे तो अनलॉक के बावजूद तीर्थनगरी में धारा 144 लागू होने का हवाला देकर पुलिस ने प्रवेश द्वार से उन्हे बैरंग लौटा दिया। यह देख विधायक नाराायण पटेल भी दुखी नजर आये।
उन्होने बताया कि श्रद्धालुओ के बडी संख्या में बैंरग लोटने पर तीर्थनगरी पर जारी े  प्रतिबंध हटाने को लेकर सीएम को पत्र लिखा है।नर्मदा तट पर बारह ज्योर्तिलिंगों में से ओंकारेश्वर में ममलेश्वर है। बीते वर्षों में हर साल इस अमावस्या पर बड़ी आस्था व श्रद्धा के साथ हजारों की संख्या में मालवा, निमाड़, राजस्थान सहित अन्य क्षेत्रों से हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं का जमावड़ा ओंकारेश्वर में लगता था। भक्त मां नर्मदा में स्नान व ओंकार जी के दर्शन के उद्देश्य से यहां आते हैं। लेकिन गुरूवार को तीर्थनगरी में पुलिस का सख्त पहरा रहा। बाइक, कार से पहुंचे बाहरी व स्थानीय श्रद्वालुओं को तीर्थनगरी के बाहर 2 किमी दूर से ही लौटा दिया गया। पुलिस ने जगह-जगह बैरिकेड्स लगा रखे थे। राजस्व व पुलिस के बड़े अफसरों ने भी क्षेत्र का दौरा किया।