ओपीएस भदौरिया के गांव में जहरीली शराब बनाने की फैक्‍टरी व 5000 खाली क्‍वाटर्र व ढक्‍कन व पेक करने की मशीन और 50 लीटर ओपी पकडी

भिण्‍ड से डॉ. रवि शर्मा

भिंड १४ जनवरी ;अभी तक; जहरीली शराब पीने से 21 लोगों की मौत के बाद मुरैना जिले के कलेक्टर-एसपी को हटाया गया तो भिंड जिला प्रशासन भी एक्शन मोड में आ गया। बुधवार की शाम पुलिस ने आबकारी टीम के साथ अवैध शराब की फैक्ट्री का हब बन चुके अकलोनी गांव में भी दबिश दी।

यहां एक फैक्ट्री से 5 हजार खाली क्वार्टर, 50 लीटर ओपी सहित ढक्कन पैक करने की मशीन मिली है। वहीं गोहद पुलिस ने बूटी कुईयां से अवैध शराब की भट्टी पकड़ी है। इसके अलावा पुलिस ने दिनभर अवैध शराब के कारोबार को लेकर दबिशें दीं।

दरअसल बुधवार को दैनिक भास्कर ने प्रमुखता से जिले में शराब की 20 से ज्यादा फैक्ट्रियां, माफिया ने पैकिंग के लिए मशीनें तक लगा ली, शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी, जिसमें भास्कर ने यह भी खुलासा किया था कि जिले में कहां कहां अवैध शराब की फैक्ट्री चल रही है।

इस खबर के प्रकाशित होने के बाद बुधवार को सुबह से ही पुलिस ने मुखबिर तंत्र को सक्रिय अवैध शराब के कारोबार से जुड़े लोगों की धरपकड़ के लिए दबिशें देना प्रारंभ की और देर शाम पुलिस गोरमी थाना क्षेत्र के अकलोनी गांव भी पहुंच गई जहां सबसे ज्यादा अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री संचालित हो रही हैं।

अकलौनी में खेत में मिली खाली क्वार्टर से भरी बोरियां

गोरमी थाना टीआई मनोज राजपूत के नेतृत्व में आबकारी सब इंस्पेक्टर अजीत यादव, हरेंद्र मावई, नरेंद्र प्रजापति के साथ पुलिस लाइन के बल के साथ अकलोनी गांव में दबिश दी जहां अकलोनी निवासी छोटे सिंह के घर के पीछे खेत से पांच बोरी में खाली क्वार्टर, ढक्कन, क्वार्टर पैक करने वाली मशीन, 50 लीटर ओपी सहित अन्य सामान पकड़ा गया।

इसमें क्वार्टर पर लगाए जाने वाले स्टीकर सहित अन्य सामग्री है। सूत्रों की मानें तो पुलिस ने यहां से फैक्ट्री संचालित करने वाले आरोपी व्यक्ति के एक सहयोगी को पकड़ा है जबकि फैक्ट्री मालिक मौके से फरार हो गया। इसके बाद पुलिस ने गांव में अन्य स्थानों पर भी दबिश दी। देर रात तक पुलिस की यह कार्रवाई जारी थी।

घर में कुछ नहीं मिला, पीछे पक रहा था लहान

गोहद चौराहा थाना प्रभारी गोपाल सिंह सिकरवार ने मुखबिर की सूचना पर बूटी कुईयां पर राजेंद्र उर्फ विक्टर पुत्र कश्मीर सिंह सिख के यहां दबिश दी। हालांकि उसके घर पर पुलिस को कुछ नहीं मिला लेकिन घर के पीछे अवैध शराब बनाने की भट्टी चल रही थी जहां एक ड्रम में करीब 200 लीटर लहान शराब बनाने के लिए पकाया जा रहा था। इस लहान को पुलिस ने नष्ट कर दिया। वहीं 110 लीटर कच्ची शराब भी पुलिस ने जब्त की है। पकड़ी गई शराब की कीमत करीब 65 हजार रुपए है। पुलिस ने आरोपी राजेंद्र उर्फ विक्टर को पकड़ लिया है।

बोरी में ला रहे थे 344 क्वार्टर शराब, पुलिस ने दो को पकड़ा

पुलिस ने इटावा रोड पर दीनपुरा वंशी ढाबा के पास बाइक से आ रहे दो लोगों को 344 क्वार्टर देशी शराब के साथ पकड़ा है। देहात थाना टीआई डीबीएस तोमर ने बताया कि जरिए मुखबिर सूचना मिली थी कि फूप की ओर से दो लोग बाइक पर अवैध रुप से शराब लेकर आ रहे हैं।

इस पर दीनपुरा पर वंशी ढाबा के पास नाकाबंदी की गई, तभी एक काले रंग की बुलट आती हुई दिखी, जिसे रोककर उन पर सवार लोगों के नाम पूछे गए तो उन्होंने अपने नाम नागेंद्र उर्फ छिद्दू सिंह भदौरिया (36) पुत्र सुरेश सिंह भदौरिया और दिलीप उर्फ दीपू गौड़ (35) पुत्र गुटईलाल निवासी बीटीआई रोड संतोष नगर भिंड बताया। वहीं जब उनके बीच में रखी प्लास्टिक की बोरी की तलाशी ली गई तो उसमें देशी शराब के 344 क्वार्टर मिले।

भास्कर ने जहां बताया वहीं मिलीं अवैध शराब फैक्ट्री

बताना होगा कि भास्कर ने 13 जनवरी को समाचार प्रकाशित कर अवैध शराब के जो ठिकाने बताए थे, उसी जगह पर पुलिस को बड़ी मात्रा में अवैध शराब और फैक्ट्री मिली है। बुधवार को एसपी मनोज कुमार सिंह के निर्देश के बाद एएसपी संजीव कंचन ने वायरलेस सेट पर सभी थाना प्रभारियों को चेतावनी दी कि यदि किसी के भी अवैध शराब का कारोबार संचालित होता अथवा फैक्ट्री चलती पाई गई तो सबसे पहले उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने साफ तौर पर कहा कि किसी भी हालत में अवैध शराब का कारोबार जिले में चलना नहीं चाहिए। जो भी लोग इस कारोबार से जुड़े हैं उनके विरुद्ध सख्ती से कार्रवाई की जाए। डीएसपी हेडक्वार्टर मोतीलाल कुशवाह के निर्देश पर ऊमरी थाना प्रभारी दीपेंद्र यादव ने सीता की गढिया में दबिश दी। लेकिन यहां सफलता नहीं मिली। इसके अलावा शराब के कारोबार से जुड़े अन्य लोगों के यहां भी दबिशें दी।

 

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *