ओमिक्रॉन की रिपोर्ट आने के पूर्व ही ९ कोविड मरीज हुए ठीक

मयंक भार्गव

बैतूल २३ दिसंबर ;अभी तक;  देश और दुनिया में कोविड की तीसरी लहर के लिए जिम्मेदार माने जाने वाले कोविड वेरिएंट्स ओमिक्रॉन को लेकर भले ही दहशत का माहौल है लेकिन बैतूल जिले से ओमिक्रॉन वेरिएंट्स की जांच के लिए जिन आठ मरीजों के सेंपल भेजे गए थे उनमें से रिपोर्ट आने के पूर्व ही सभी आठो मरीज ठीक हो चुके है। रिपोर्ट आने के पूर्व ही सभी आठो मरीज ठीक हो चुके है। रिपोर्ट आने में अभी भी 8 से 10 दिन लगेंगे जबकि 3 से 4 दिन बाद ही इन आठों मरीजों का क्वारेंटीन समय भी समाप्त हो जाएगा और सभी मरीज बाहर निकल सकते है। जिससे इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर भी इन्हें कोई असर नहीं होगा।

इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने से बस इस बात की पुष्टि होगी कि जिले में भी ओमिक्रॉन वेरिएंट्स की दस्तक हो चुकी है जिससे स्वास्थ्य महकमा सतर्क हो जाएगा। ज्ञातव्य हो कि जिले के शाहपुर ब्लॉक स्थित मोतीढाना में पिछले दिनों पहले एक कोविड मरीज मिला था फिर उसके संपर्क में आने वाले सात लोगों की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने से स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया था। एक ही स्थान पर कोविड पॉजिटिव आने से स्वास्थ्य विभाग द्वारा आठों मरीजों के सैंपल जीनोम सिक्वेसिंग जांच के लिए भिजवाए थे। जिसकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है।

जिला कोविड अधिकारी डॉ. सौरभ राठौर ने बताया कि मोतीढाना के आठो कोविड मरीज की हालत ठीक होने पर उन्हें होम आयशोलेशन में रखा गया था। बुधवार को मोतीढाना के सभी आठ मरीज डिस्चार्ज हो गए है। डॉ. राठौर ने बताया कि सभी मरीज की तबियत ठीक है। डिस्चार्ज होने के बाद उन्हें 4 दिन और क्वारेंटीन रहना होगा।

डॉ. सौरभ राठौर ने बताया कि आठो मरीज के सैंपल जीनोम सिक्वेसिंग के लिए भिजवाए गए है। यहां से सैंपल गांधी मेडिकल कॉलेज भोपाल गए वहां से जांच के लिए दिल्ली भिजवाए गए है। जीनोम सिक्वेसिंग टेस्ट में ही 10 दिन का समय लगता है। जिससे इनकी रिपोर्ट आने में 20 दिन से अधिक का समय लगता है। बैतूल से भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट आने में अभी भी 8 से 10 दिन का समय लगेगा। डॉ. राठौर ने बताया कि यदि इनमें से किसी की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो यह पता चलेगा कि जिले में भी ओमिक्रॉन की एंट्री हो चुकी है। इसके बाद बाहर से आने वालों पर सख्ती की जाएगी साथ ही सभी कोविड मरीजों के सेंपल जीनोम सिक्वेसिंग के लिए भेजे जाएंगे। जिले में अभी आमला क्षेत्र में सिर्फ एक कोविड है। इसके ठीक होने के बाद जिला एक बार फिर कोविड फ्री हो जाएगा।