कच्चा मकान ढहने से एक व्यक्ति सहित 11 बकरियों की मौत

9:10 pm or July 31, 2022

मयंक भार्गव, बैतूल से

बैतूल ३१ जुलाई ;अभी तक;  बीती रात्रि में एक कच्चा मकान भरभराकर ढह गया। इस हादसे में मकान मालिक की जहां मौत हो गई वहीं उसकी पत्नी और बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। मकान के मलबे में दबने से 11 बकरियों की भी मौत हो गई है। यह हादसा जिला मुख्यालय से करीब 80 किमी. दूर मुलताई थाने के अंतर्गत आने वाले ग्राम मंगोनाकला में घटित हुआ।

मुलताई थाना प्रभारी सुनील लाटा ने बताया कि मंगोनाकला निवासी ग्रामीण धनराज मर्सकोले (45) का शनिवार-रविवार की रात्रि करीब 2 बजे के दरम्यिान पुराना कच्चा मकान ढह गया।  जिसमें धनराज मर्सकोले की मलबे में दबने से मौत हो गई।  बीते एक माह से जारी बारिश से मकान की एक दीवार जर्जर हो गई थी। शनिवार रात 3 बजे के दरमियान यह दीवार भरभरा कर जमींदोज हो गई और पूरा मकान भी ढह गया। मकान के मलबे की चपेट में आने से धनराज की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। पत्नी और बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया।

मौके पर पहुंचे जनपद सदस्य नामदेव हरसुले ने बताया मकान ढहने से मकान में बंधी 11 बकरियां भी मलबे के चपेट में आने से मौत के मुंह में समा गई। श्री हरसुले ने बताया दोनों घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है। घटना की सूचना पर प्रभातपट्टन सहायता केंद्र से उप निरीक्षक उत्तम मस्तकार भी मौके पर पहुंच गए थे।