कपड़ा दुकान में आगजनी का पर्दाफाश: दो आरोपी गिरफ्तार’

मयंक शर्मा

खंडवा २७ अगस्त ;अभी तक;  शहर में स्टेशन रोड पर कुछ दिन पहले एक दुकान में हुये अग्निकांड के मामले मे जांच उपरात पुलिस ने दो आरोपियो को बंदी बनाया है जिन्होने 5 हजार की फिरोती के बदले दुकान को आग मेें फंक कर 29 लाख रूपये का बडा नुकसान पहुंचाया। मामला आपसी रंजिश का था। रजिश यह कि दुकान मे आगे कपडे टांगने से पडौसी की दुकान दब जाती थी। 20 अगस्त की घटना में अव्वल आग लगने को शॉर्ट सर्किट माना गया लेकिन सीसीटीवी कैमरे और दुकानदार की पूछताछ के बाद मामला कुछ और ही निकला ।

सीएसपी ललित गठरे ने बताया कि मामले की विवेचना मे शहर में अन्य जगह स्थानों पर सीसीटीवी फुटेज खगाले गये , जिस मे एक व्यक्ति माता चैक से इन्द्राचैक से रेल्वे स्टेशन तिराहे पर आता दि खाई दिया । जिसके द्वारा ही रेल्वे स्टेशन तिराहे पर कपडा दुकान में आग लगाई गई । उक्त फुटेत एवं हुलिये अज्ञात व्यक्ति की माता चैक , इन्द्राचैक , रामनगर , चीराखदान क्षेत्र में तलाश पतारसी करते , मुखबीर से सुचना प्राप्त हुई कि उक्त फुटेज में दिखने वाला व्यक्ति चंदन बरकने निवासी माता चैक खंडवा का है । जो वर्तमान मे शीतल ढाबा के पास बेडी मे रहता है । जिसे र अभिरक्षा में लिया गया । उसने कडी पूछताछ मे बताया की मुझे राजेश कटारे निवासी माता चैक खंडवा द्वारा 5000 रूपये देकर बोला की , रेल्वे स्टेशन तिराहे पर मेरी जुता चप्पल के साईड मे रेडीमेट कपडे की दुकान में आग लगाना है । तो मैने राजेश कटारे कहने पर उक्त दुकान मे पट्रोल छिड़कर आग लगा दिया था । आरोपी चंदन बरकने द्वारा अपराध स्विकार करने के पश्चात राजेश कटारे निवासी माता चैक खंडवा को गिरफतार किया गया ।।

श्री गठरे ने बताया कि आपसी रंजिश के चलते दुकान में आग लगाना पाया गया । उन्होने बताया कि गम 20.अगस्त की रात्रि करबिन 10 बजे रेल्वे स्टेशन तिराहा पर स्थित रेडीमेट कपड़ा दुकान पर आग लगने की सुचना प्राप्त हुई । फरियादी आमीन पिता यूसुफ कुरैशी उम्र 25 साल निवासी भगतसिंह चैक खंडवा की रिपोर्ट पर थाना कोतवाली खंडवा पर बताया की मेरी कपड़ा दुकान पर आग लग गई है । दुकान में रखे करीब 20 लाख रूपये के कपड़ो आग मे जलने से नुकसान हो गया ।

फरियादी की रिपोर्ट पर आगजनी का केस कायम कर जांच में लिया गया । चंदन के बाद राजेश कटारे को बंदी बनाया तो पहले पूछताछ मे ना – नकुर किया , जिससे शक्ति से पूछताछ करने पर उसने (राजेश कटारे ा) ने बताया कि कपडा व्यवसायी द्वारा कपडो के बहार टागने की वजह से मेरी दुकान दिखाई नहीं देती थी । इसी गुस्से मे मैंने चंदन बरकने को 5000 रूपये देकर , कपडा दुकान मे आग लगवाई थी ।

उल्लेखनीय है कि मामला गंभीर होने पर जिला पुलिस अधीक्षक विवेकसिंह ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एवं नगर पुलिस अधीक्षक के निर्देशन मे थाना कोतवाली की एक टीम गठीत की गई । टीम में निरीक्षक बी.एल. मंडलोई , सउनि . जितेन्द्र चैहान , प्र . आर . हिफाजत अली , आरक्षक अमर प्रजापत , अमित यादव , सुनिल सेंगर , अनिल बछाने एवं सीसीटीवी कैमरा आरक्षक दीपक एवं योगेश के द्वारा दर्ज की गयी सफलता पर सराहनीय है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *