कमाण्डर जीप से अवैध शराब का परिवहन करने वाले अभियुक्त की जमानत निरस्त*

महावीर अग्रवाल
मंदसौर / उज्जैन २६ सितम्बर ;अभी तक;  न्यायालय श्रीमान ए.के. सक्सेना, अपर सत्र न्यायाधीश, खाचरौद, जिला उज्जैन के न्यायालय द्वारा अभियक्त जितेन्द्र पिता मोहनलाल चौधरी, निवासी-ग्राम परसी पाट, जिला उज्जैन का जमानत आवेदन निरस्त किया गया।
      उप-संचालक अभियोजन डॉ0 साकेत व्यास ने बताया कि अभियोजन की घटना इस प्रकार है कि दिनांक 06.04.2020 को पुलिस थाना खाचरौद को मुखबीर द्वारा सूचना मिली कि मडावदा गांव तरफ से एक कमाण्डर जीप जिसमें अवैध शराब की पेटिया भरी हुई है, जो लुसडावन तरफ जाने वाली है। मुखबीर की सूचना पर मय फोर्स के साथ मुखबीर द्वारा बताये हुऐ घटना स्थल पर पहुंचे, जहां घेराबंदी की गई और थोडी देर में मड़ावदा तरफ से एक कमाण्डर जीप आती हुई दिखी, जिसे हाथ से रोकने का इशारा किया तो जीप चालक ने पुलिस से थोडी दूर पहले एक दम जीप रोककर कूद कर खेत तरफ भाग गया व पुलिस द्वारा पीछा करने पर नहीं मिला। जीप को अंदर चेक करके देखा तो उसमें 19 पेटिया शराब की मिली, जिनके अंदर खोलकर देखने पर प्रत्येक पेटी में 50-50 क्वाटर मिले व प्रत्येक क्वाटर की क्षमता 180 एमएल के थे। इस प्रकार कुल देशी शराब लगभग 171 बल्क लीटर भरी हुई व कुल कीमत 38,000/- रूपये थी। पुलिस द्वारा शराब को विधिवत जप्त किया गया। पुलिस थाना खाचरौद अपराध पंजीबद्ध किया गया। विवेचना के दौरान अभियुक्त जितेन्द्र को गिरफ्तार किया गया।
अभियुक्त द्वारा जमानत आवेदन न्यायालय में प्रस्तुत किया था। अभियोजन अधिकारी की ओर से जमानत आवेदन का विरोध करते हुये तर्क किये कि अभियुक्त गंभीर अपराध कारित किया है। न्यायालय द्वारा अभियोजन के तर्केे से सहमत होकर अभियुक्त का जमानत निरस्त किया गया।
प्रकरण में पैरवीकर्ता श्री परमानन्द वरवनिया, एजीपी खाचरौद जिला उज्जैन द्वारा की गयी।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *