कमिश्नर नर्मदापुरम् श्री मालसिंह ने निर्माण कार्यों में लापरवाही पर जारी किये कारण बताओ नोटिस

सौरभ तिवारी

होशंगाबाद  २४ दिसंबर ;अभी तक;  कमिश्नर नर्मदापुरम मालसिंह ने गतदिन ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग मुलताई के विभिन्न निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। प्रभातपट्टन में भ्रमण के दौरान मनरेगा योजना अंतर्गत वर्ष 2021-22 में स्वीकृत एवं वर्तमान में निर्माणाधीन ग्रेवल मार्ग मेहराढाना से चिचण्डा राष्ट्रीय राज्य मार्ग 47 पर जारी मस्टर क्रमांक 16290 अवधि दिनांक 17 दिसम्बर 2021 से 23 दिसम्बर 2021 तक के 60 मजदूरों द्वारा कार्य की मांग की गई, किन्तु मौके पर 48 मजदूर पाए गये,कार्यस्थल पर मस्टर रोल भी उपलब्ध नहीं था।

इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना अंतर्गत निर्मित निर्माण कार्य ग्रेवल सड़क सोमगढ़ से कौड़िया मार्ग लम्बाई 3.1 किलो मीटर पर आवश्यकता अनुरूप चैनेज क्रमांक 1300 मीटर .1570 मीटर पर तीन पुलिया का कार्य पूर्ण होने के उपरांत भी निर्माण नहीं करवाया जाना पाया गया। इसी तरह कुछ पुलिया निर्मित हैं किन्तु उनकी गुणवत्ता भी निम्न स्तर की है। इसी तरह से पावल खडकी जोड़ से सावनी मार्ग लंबाई 0.8 किलोमीटर का वर्तमान में संधारण अवधि में होना पाया गया, जिस अवधि में संधारण कार्यों का दायित्व ठेकेदार का होता है, इसके उपरांत भी निरीक्षण में निर्माण कार्य के हार्ड शोल्डर एवं साईड ड्रेन के स्लोव पर वर्षाकाल में उगी हुई विभिन्न झाड़ियों की आवश्यक सफाई कार्य नहीं करवाया गया। उक्त समस्त कार्यों की निर्माण एजेंसी ग्रामीण यांत्रिकी सेवा है तथा कार्य गुणवत्ता पूर्ण तकनीकी मापदंडों के आधार पर कराए जाने की जिम्मेदारी उपयंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा शुभम खरते की है। कमिश्नर श्री माल सिंह ने निरीक्षण में पाई गई उक्त कमियों के आधार पर शुभम खरते को कारण बाताओं नोटिस जारी कर निर्देशित किया है कि सात दिवस के अंदर अपना पक्ष लिखित में प्रस्तुत करे, उत्तर समाधान कारक नही होने की दशा में नियमानुसार कार्यवाही की जावेगी।

विकासखंड मुलताई में भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री ग्राम सरोवर योजनांतर्गत स्वीकृत तालाब निर्माण कार्य बरई-2 विकास खंड मुजलाई स्वीकृत राशि 121.53 लाख के निरीक्षण में पाया गया कि तत्कालीन समय में साईट लोकेशन का चिन्हांकन गलत होने से कार्य की लागत के हिसाब से वाटर स्टोरेज कैपेसिटी अत्यंत कम है तथा तालाब में पानी भराव क्षेत्र में पाल के पास से ही गहरा गढ्ढा का खुदाई कार्य करवा दिया गया जोकि मार्गदर्शी मापदंडों के अनुरूप नहीं होना पाया गया। यह तालाब जल संसाधन विभाग द्वारा पूर्व में निर्मित बाबरबोह टैक के केंचमेंट में इफेक्ट कर रहा है। निरीक्षण उपरांत उक्त तालाब में प्रथम दृष्टया तकनीकी मापदण्डों के आधार पर साईड लोकेशन का चिन्हांकन कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा द्वारा न किया जाकर कार्य का प्राकक्लन तैयार स्वीकृति हेतु वरिष्ठ कार्यालय प्रेषित किया गया है, और तकनीकी मापदंड के विपरीत निर्माण होना पाया गया है, जिस पर कमिश्नर ने  तत्कालीन कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग मुलताई जिला बैतूल के. एस. मालवीय जोकि वर्तमान में नरसिंहपुर में पदस्थ है उन्हें कलेक्टर नरसिंहपुर के माध्यम से नोटिस जारी कर निर्देशित किया है कि सात दिवस के अंदर अपना पक्ष लिखित में प्रस्तुत करे, उत्तर समाधान कारक नही होने की दशा में नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।