करंट लगने से घायल हुए बन्दर का ओम बड़ोदिया ने उपचार कराकर वन विभाग को सुपुर्द किया

4:42 pm or September 18, 2020
मदारपुरा में करंट लगने से घायल हुए बन्दर का ओम बड़ोदिया ने उपचार कराकर वन विभाग को सुपुर्द किया
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर १८ सितम्बर ;अभी तक;  सामाजिक कार्यकर्ता और पशु प्रेमी ओम बड़ोदिया ने पुनः मानवता की मिसाल पेश करते हुए मदारपुरा में करंट लगने से घायल एक बंदर का उपचार कर उसे वन विभाग के सुपुर्द किया।
                   शुक्रवार, 18 सितम्बर को ओम बड़ोदिया के पास शोएब शेख पिता हनीफ शेख का फोन आया कि मदारपुरा स्थित मस्जिद चौक में एक बंदर करंट लगने से घायल अवस्था में पड़ा है और उसके पैर से खुन बह रहे है। सूचना मिलते ही श्री बड़ोदिया ने वन विभाग को फोन किया। उसके पश्चात् वे पशु विभाग के चिकित्सक डॉ. मेसुल डामोर के साथ उक्त स्थल पर पहुंचे जहां देखा कि एक बन्दर जिसके दोनों पैर से खून निकल रहा है तथा वह दर्द के मारे परेशान है। तथा वहां बच्चों की काफी भीड़ इकट्ठी हो गई। बन्दर डर के मारे किसी को अपने पास नहीं आने दे रहा था। ओम बड़ोदिया ने वन विभाग की टीम के साथ नगरपालिका कर्मचारियों के सहयोग से जाल फैलाकर बन्दर को पकड़ा तथा पैर का ईलाज करवाया। उसके पश्चात् वन विभाग की गाड़ी से उसे ले जाया गया।
उल्लेखनीय है कि ओम बड़ोदिया विगत 5 वर्षों से अधिक समय से बिमार निराश्रित पशुओं  व पक्षियों का ईलाज कर रहे है। विगत दिनों एक घायल ऊँट को उनकी सक्रियता से सिहोरी (राज.) भिजवाया गया जहां उसका उपचार हो रहा हैं। इसके साथ ही उनके द्वारा अनेक निराश्रित गौमाताओं, पक्षियों, बन्दरों का उपचार करवाया गया। उन्होंने मृत वानरों का दाह संस्कार भी किया तथा विगत लॉकडाउन के दौरान जब निराश्रित पशु-पक्षियों खाने-पीने की व्यवस्था नहीं थी तब उन्होंने उनके भोजन की व्यवस्था की।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *