करोना की लड़ाई में जीतेगी बस्तर की जनता  – प्रभारी मंत्री

राजेंद्र तिवारी
जगदलपुर, 02 अक्टूबर ;अभी तक; आदिम जाति कल्याण, शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री एवं बस्तर जिले के प्रभारी  डाॅ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने   कहां है कि पूरा विश्व आज कोरोना महामारी सेे  जूझ रहा है । इस महामारी से जूझने के लिए  जो नए प्रयोग  बस्तर में प्रारंभ किए हैं , वह जनता के सहयोग से सफल होकर रहेगा। वे आज यहां वीडियो कांफ्रेंस केेे माध्यम से आम जनता के लिए प्रारंभ किए गए  कॉल सेंटर का उद्घाटन कर रहे थे।
               उन्होंने  आगे कहा कि कॉल सेंटर काफी लोगों की समस्याओं को प्रशासन तक पहुंचाने का सहारा बनेगा ।जनता में भरोसा दिलायेगा की शासन प्रशासन उनके स्वास्थ्य को लेकर गंभीर एवं तत्पर है। इस बीमारी से लड़ने एवं हराने का लोगो को मनोबल भी प्रदान करेगा। बस्तर नोनी कॉल सेंटर एक रचनात्मक सोच है, यह एक अच्छा प्रयास है। जि
                मंत्री श्री टेकाम ने बस्तर जिला प्रशासन द्वारा जिले के विकास के लिए लोगों से सुझाव मंगाए जाने की प्रशंसा करते हुए इसे अभिनव पहल बताया। उन्होंने कहा कि बस्तर का विकास मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल की प्राथमिकता है तथा लोगों से सुझाव लेकर विकास कार्यों को आगे बढ़ाना निश्चित तौर पर छत्तीसगढ़ शासन की मंशा के अनुरुप है।
               उन्होंने कहा कि बस्तर के हर कोने में विकास के पर्याप्त अवसर उपलब्ध हैं।   अब केवल ठोस कार्यक्रमों के सहारे लक्ष्य तक पहुंचा जा सकताा है।
             सांसद  दीपक बैज ने कहा कि लोगों के मन में कोरोना के प्रति  व्याप्त  भय को दूर करने में यह काॅल सेंटर  सहायता करेग।। उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से अधिक से अधिक लोगों की मदद की जा सकती है। विधायक  राजमन बेंजाम ने इस अवसर पर विकासखण्ड स्तर पर कोविड केयर सेंटर की स्थापना की आवश्यकता बताते हुए कहा कि इससे ग्रामीणों को राहत मिलेगी।
                  कलेक्टर  रजत बंसल ने इस अवसर पर कहा कि इस कॉल सेंटर के माध्यम से कोविड-19 से संबंधित जानकारी दी जाएगी। इसके जरिए होम आइसोलेशन के नियम, कोविड जाँच की सुविधा, एंबुलेंस की सुविधा, कोविड संक्रमित के संपर्क में आने पर उठाए जाने वाले कदम, घबराहट व तनाव की स्थिति में चिकित्सकीय परामर्श, व एमरजेंसी सेवा के बारे  जानकारीीी प्राप्त हो सकेगी ।वर्तमान में लोगों में कोविड से संबंधित गलत धारणा बनी हुई है, जिसे कॉल सेंटर के माध्यम से इसे दूर करने की पहल जिला प्रशासन द्वारा किया जा रहा है। कॉल सेंटर के माध्यम से लोगों को कोविड संबंधित सही जानकारी प्राप्त होगी जिससे लोगों में जो कोविड के प्रति भय दूर होगा। सही जानकारी प्राप्त होने पर लोग कोविड के प्रति सजग एवं जागरूक हांेगे। कॉल सेंटर की सेवा सप्ताह के सातों दिन चौबीसों घंटे उपलब्ध होगी। इसके माध्यम से प्रशिक्षित वॉलेंटियर्स द्वारा लोगों की समस्याओं का समाधान किया जाएगा। उन्होंने बताया कि बस्तर जिले में अब तक 30 हजार लोगों को काढ़ा वितरण किया जा चुका है। जिले में चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए आवश्यक दवा, उपकरण एवं मानव संसाधन की उपलब्धता के लिए जिला प्रशासन द्वारा जिला खनिज मद न्यास से भी राशि प्रदान की गई है। कलेक्टर ने बताया कि जिले में वर्तमान में कोविड केयर सेंटर की क्षमता 700 बिस्तरों की है, जिसे इसी माह तक 2800 करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जिले के पांच विकासखण्डों में कोविड केयर सेंटर स्थापित हैं, जिसे जनप्रतिनिधियों की मांग के अनुसार सातों ब्लाॅक में किया जाएगा। इस अवसर पर जिला प्रशासन के अन्य अधिकारीगण भी उपस्थित थे।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *