कर्मचारी कल्याण आयोग के अध्यक्ष को पेंशनर महासंघ ने दिया ज्ञापन

8:03 pm or May 23, 2022
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर २३ मई ;अभी तक;  म.प्र. कर्मचारी कल्याण आयोग के अध्यक्ष श्री रमेशचन्द्र शर्मा के मंदसौर प्रवास पर सुशासन भवन कलेक्ट्रेट मंदसौर पर सेवानिवृत्त एवं  पेंशनर नागरिक महासंघ के जिलाध्यक्ष श्रवण कुमार त्रिपाठी के नेतृत्व में जिला सचिव नन्दकिशोर राठौर, सहसचिव कन्हैयालाल सोनगरा, डे केअर सचिव राजेन्द्र पोरवाल, सदस्य राजेन्द्र पाठक, नगर अध्यक्ष  अशोक रामावत, नगर सचिव चन्द्रकांत शर्मा, रामटेकरी सचिव गोविन्द पारीख एवं संजीत अध्यक्ष पारसमल जैन तथा विष्णुलाल भदानिया ने उनका पुष्पहारों से स्वागत किया व जिले में महासंघ की गतिविधियों की पुस्तकों का एक सेट भेंटकर लंबित मांगों के संबंध में एक ज्ञापन सौंपा।
                               जिला सचिव नन्दकिशोर राठौर ने अध्यक्ष श्री शर्मा से चर्चा कर बताया कि पेंशनरों की महंगाई राहत की सबसे बड़ी बाधा म.प्र./छत्तीसगढ़ पुर्नगठन की धारा 49 (6) है। इसे विलोपित किया जाना चाहिये। इसे नहीं विलोपित किया गया तो दोनों राज्यों की सरकार महंगाई राहत को लेकर नूरा कुश्ती करती रहेगी। जबकि इस धारा में दोनों राज्यों की डी.आर. के मामलों में सहमति जैसी कोई अनिवार्यता का उल्लेख नहीं है। केन्द्र भी इस संदर्भ में राज्य शासन को 13 नवम्बर 2017 को ही पत्र के द्वारा निर्देश प्रदाय कर चुका है फिर भी पेंशनर को आज भी केन्द्र की तुलना में 17 प्रतिशत डी.आर. ही प्रदाय किया जा रहा है जबकि केन्द्र अपने पेंशनरों को 34 प्रतिशत डी.आर. स्वीकृत कर चुका है। इसी क्रम में 32 माह एवं 27 माह के एरियर की राशि भी नहीं प्रदाय की जा रही है। राज्य सरकार सभी को दे रही है पर पेंशनरों की उपेक्षा कर बुजुर्गों का मन दुखा रही है। आप पेंशनरों की इन मांगों को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के समक्ष रखे और शीघ्र पेंशनरों को राहत दिलवाये।
श्री शर्मा ने अध्यक्ष श्री त्रिपाठी को आश्वस्त किया कि मांगों को मुख्यमंत्री के समक्ष रखकर इन्हें पूरा कराने का पूरा प्रयास करूंगा और की गई कार्यवाही से आपको मोबाइल पर सूचित भी करूंगा।