कर्मों में परिवर्तन से बनेगा अपराधमुक्त जीवनः-ब्रह्माकुमारी सीता बहनजी जेल के कैदीयों को अच्छा जीवन जीने का दिया संन्देश

9:23 pm or October 17, 2022

दीपक शर्मा

पन्ना १७ अक्टूबर ;अभी तक; प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा जिला जेल, पन्ना में अपराधमुक्त जीवन और व्यवहार शुद्धि विषय पर एक कार्यक्रम रखा गया।

बहनजी ने जिला जेल में कैदियों को समझाते हुये कहा कि, संस्कारों के परिवर्तन व कर्मों की गहन गति के बारे में समझाया। कर्मां के आधार पर ही यह संसार चलता है, जैसा बोयेंगे वैसा काटना होगा। अपने किये हुये कर्मों से ही व्यक्ति महान या कंगाल बनता है। अपने कर्मों में परिवर्तन लाने से ही हम अपराधमुक्त बनते हैं।

बहनजी ने ज्ञान और मेडीटेशन (ध्यान) पर समझाते हुए कहा कि, जब हम मेडीटेशन करते हैं तो हमारी इंद्रियां संयमित होती हैं, हमारा आत्मविश्वास जागृत और मनोबल बढ़ता है। जिससे हमें अच्छे बुरे की परख होती है। और हम अपराधमुक्त बन सकते हैं। उन्होने कहा कि, व्यक्ति जन्म से अपराधी नहीं होता है। जब वह इस संसार में आता है तो गलत संगत, नशा, व्यसन, गलत खान-पान, लोभ-लालच, क्रोध, तनाव या विपरीत परिस्थितियां उसे अपराधी बनाती हैं। इसलिए इन बातों से दूर रहें। कोई समस्या क्रोध व बदले की भावना से समाप्त नहीं होती बल्कि कुछ समय का क्रोध कई वर्षों तक पश्चाताप के रूप में भुगतना पड़ता है। इसलिए सहनशील बन धैर्यता का परिचय दें। बदले की भावना छोडकर खुद बदलने का प्रयास करना चाहीए। यदि हम बदल गये तो हमारा जीवन बदल जायेगा। कार्यक्रम में श्रीमती निशा, पूर्व प्राचार्य, श्रीमती मंजूलता जैन, एडवोकेट ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किये। उपस्थित सभी का आभार जेलर उप जेल पन्ना द्वारा किया गया।