कलश यात्रा के साथ नरसिंहपुरा में हुआ श्री शिवमहापुराण कथा का शुभारंभ 

10:14 pm or August 2, 2022
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर २ अगस्त ;अभी तक;  स्थानीय नरसिंहपुरा में मंगलवार को श्री शिवमहापुराण कथा का शुभारंभ हुआ।    पवित्र श्रावण मास में 2 से 8 अगस्त तक प्रतिदिन दोप.  12 से 4 बजे तक कथा व्यास पं. श्री विष्णु शर्मा के मुखारविन्द से भगवान शिव की कथा का वाचन होगा।
               मंगलवार को नरसिंहपुरा में पौथी एवं कलश यात्रा निकली। जिसमें मुख्य यजमान जगदीशचन्द्र भोभरिया एवं संतोषदेवी कुमावत सहित कारूलाल कुमावत, विनोद कुमावत, सुखलाल कुमावत, रवि कुमावत, राजेश कुमावत, जितेंद्र कुमावत, विजय कुमावत, कन्हैयालाल भोभरिया सहित बड़ी संख्या में धर्मालुजन सम्मिलित हुए।कलश यात्रा में महिलाओं ने सिर पर कलश धारण किया।  पौथी यात्रा क्षेत्र में भ्रमण कर कथा स्थल पहुंची।
                      व्यासपीठ पर विराजित पं. विष्णु शर्मा ने कहा शिव की महिमा अनंत है। अपने जीवन मे कितने भी पाप हो जाए, अधर्म हो जाए उन्हें सही करने के लिए कई पुण्य करना पड़ते हैं। कई देवस्थान पर जाना पड़ता है। कई यज्ञ करना पड़ते हैं। लेकिन महाकाल के चरणों में बाबा के चरणों में शिवलिंग पर जल चढ़ाने मात्र से ही, बिल पत्र चढ़ाने मात्र से ही, आम का फल चढ़ाने मात्र से ही बाबा प्रसन्न हो जाते हैं और जीवन के जितने भी पाप होते हैं वह नष्ट हो जाते हैं।
                    इस पावन कथा का भक्तों ने बड़ी आत्मीयता के साथ श्रावण किया। साथ ही भक्तों ने जाना की शिवलिंग की महिमा क्या होती है। शिवलिंग की स्थापना क्या होती है। शिवलिंग पर जल क्यों और कैसे चढ़ाया जाता है। किस विधि-विधान से संसार में स्त्री वर्ग और पुरुष वर्ग को पूजा करना चाहिए। कथा में पहले दिन पं. शर्मा ने शिव महात्म्य के बारे में विस्तार से बताया गया।