कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने जिला अस्पताल का किया औचक निरीक्षण, अस्पताल में चखकर देखी भोजन की गुणवत्ता

सौरभ तिवारी
 

होशंगाबाद १४ सितम्बर ;अभी तक; जिला अस्पताल में स्वास्थ सुविधाओं को और अधिक मजबूत किया जाए। अस्पताल आने वाले मरीजों को समय पर गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं प्राप्त हो यह सुनिश्चित करें। यह निर्देश कलेक्टर होशंगाबाद नीरज कुमार सिंह ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सिविल सर्जन जिला चिकित्सालय को दिए हैं।

कलेक्टर श्री सिंह ने मंगलवार को जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने अस्पताल में आए मरीजों व उनके परिजनों से रूबरू चर्चा की और स्वास्थ सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। कलेक्टर ने अस्पताल में मरीजों के लिए बनाए गए भोजन को स्वयं चखकर गुणवत्ता देखी और संतोष व्यक्त किया। उन्होंने भोजन शाला में राशन के भंडारण  का की भी व्यवस्थाएं देखी और ऑयल पेंट से भोजन के मेन्यू का डिस्प्ले करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने जिला अस्पताल में ओपीडी कक्ष, आयुष्मान रजिस्ट्रेशन कक्ष, डेडीकेटेड कोविड केयर सेंटर , बच्चा वार्ड , भोजनकक्ष, कोविड आईसीयू वार्ड, पोषण पुनर्वास केंद्र आदि का निरीक्षण किया और अस्पताल प्रबंधन को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

कलेक्टर श्री सिंह ने अस्पताल में सभी प्रकार के जांच उपकरणों का सुचारू रूप से संचालन करने के निर्देश दिए। अस्पताल में एक डायलिसिस व इको मशीन बंद मिलने की शिकायत पर इन मशीनों को शीघ्र ठीक करने के निर्देश सिविल सर्जन को दिए। उन्होंने कहा कि अस्पताल के समस्त वार्डों सहित पूरे परिसर में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए । अस्पताल में पार्किंग व्यवस्था को शीघ्र दुरुस्त करें। अस्पताल की जर्जर हुए भवनों को डिस्मेंटल की कार्रवाई करें । साथ ही अस्पताल परिसर में खड़े अनावश्यक खराब वाहनों को भी नीलामी की कार्रवाई सुनिश्चित कराएं। उन्होंने कहा कि अस्पताल परिसर में उचित स्थान पर गार्डन बनाया जाए जिससे अस्पताल आने वाले लोगों को बेहतर माहौल मिल सके। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा अस्पताल परिसर में मवेशी न घुसे , उनके नियंत्रण के लिए संबंधित कांट्रेक्टर को सख्त निर्देश दिए जाए।     कलेक्टर श्री सिंह ने अस्पताल में 700 एलपीएम और 1000 एल पी एम के ऑक्सीजन प्लांट का भी निरीक्षण किया और बेड्स पर ऑक्सीजन कनेक्टिविटी का अवलोकन किया।

इसके बाद कलेक्टर श्री सिंह ने राष्ट्रीय पुनर्वास केंद्र का निरीक्षण किया और बच्चों को दिए जाने वाले पोषण आहार के संबंध में विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने एन आर सी में ग्राम ईशरपुर की भूरा केवट से उनके शिशु के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली।  कलेक्टर श्री सिंह ने एनआरसी प्रभारी को निर्देशित किया कि बच्चों को समय पर पोषण आहार का सेवन कराया जाए तथा  डिस्चार्ज हुए बच्चों का नियमित फॉलोअप करें ।         इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ प्रदीप मोजेस, डॉ रविंद्र गंगराड़े सहित अन्य स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।