कलेक्टर ने तलब की जिले में अवैध कॉलोनियों की मांगी सूची, होगी कार्रवाई

भिंड से डॉक्टर रवि शर्मा

भिंड १७ जून ;अभी तक; जिले भर मैं बनाई गई तकरीबन 4 50 से ज्यादा अवैध कालोनियों पर प्रशासन ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है । ऐसी सभी कॉलोनियों की सूची तलब की गई है जहां बिना विद्युत खंभों के ही कॉलोनियों में बसाहट तक कर दी है । कॉलोनाइजरओ के खिलाफ जुर्माने के अलावा  अन्य कानूनी कार्रवाई किए जाने की भी तैयारी की जा रही है ।

उल्लेखनीय है कि भिंड शहर की अटेर रोड इटावा रोड ग्वालियर रोड लहार रोड के अलावा बाईपास के अलावा एवं भारौली रोड चेतराम रघु आरो के आसपास सहित करीब ढाई सौ से ज्यादा कालोनियों बन गई । कॉलोनाइजर द्वारा बिना विद्युत पोल स्वीकृति के बसाहट तक शुरू करवा दी है ऐसे में बड़े पैमाने पर बिजली चोरी । अब इसको प्रभावी ढंग से रोकने के उद्देश्य को शासन ने ऐसी सभी इलाकों को स्कैन करते हुए कालोनियों की सूची तैयार कराने जाने के संबंध में अधिकारियों को दिए हैं ।

अंचल में चिन्हित की जा रही है अवैध कॉलोनी

डॉ सतीश कुमार एस के निर्देश पर संबंधित अनुयायियों के एसडीएम द्वारा अपने अपने क्षेत्र की सूची तैयार कराई जा रही है । बता दे की मेहगांव में 70 से ज्यादा कॉलोनी बना दी गई है जबकि गोहद क्षेत्र में लगभगरह 90 कॉलोनिया बन गई है वही लहार एवं अटेर अनु विभाग 40 से अधिक अवैध कालोनियां है अधिकांश कॉलोनाइजर द्वारा कॉलोनी बनाने के नियमों की अनदेखी की गई है ज्यादातर कॉलोनी पर भूमि परिवर्तन जी नहीं कराया गया कृषि उपजाऊ जमीन को आवासीय भूमि के रूप में उपयोग कर लिया गया इतना ही नहीं रह वासियों के लिए पार्क एवं व्यवस्थित ना ले नालियों के लिए भी जगह छोड़ने में कोताही बरती गई है कॉलोनाइजर को जारी होंगे नोटिस बिना विद्युत पोल स्वीकृति के बसाहट शुरू कराने वाले कॉलोनाइजर को सूचीबद्ध किए जाने के बाद जिला प्रशासन द्वारा संबंधित को नोटिस जारी किए जाएंगे नोटिस का जवाब संतोषजनक नहीं पाए जाने की स्थिति में संबंधित कॉलोनाइजर के खिलाफ एफ आई आर किए जाने के लिए कार्रवाई की जाएगी इस दौरान जुर्माना वसूलने जाने की कार्रवाई भी की जा सकती है 4 साल से ज्यादा है जिलेभर में अवैध कॉलोनी 2000 घरों में बिजली का बिना कनेक्शन उपयोग ₹2 लाख रुपए की लगभग अवैध कॉलोनियों में हर महा  हो रही है बिजली चोरी 5 अनु विभागों मैं व्याप्त है अवैध कॉलोनियों की समस्या ऐसी कॉलोनी और उनके कॉलोनाइजर को सूचीबद्ध किया जा रहा है जिसके द्वारा अवैध तरीके से कॉलोनी बनाकर बिना विद्युत पोल स्वीकृति के ही बाजार शुरू करा दी है नोटिस देने के बाद कार्रवाई शुरु होगी डॉ सतीश कुमार एस कलेक्टर भिंड